Rajasthan Krishi Kalyan Abhiyan 2022 राजस्थान कृषि कल्याण अभियान 2022 Registration

0
1153
Rajasthan Krishi Kalyan Abhiyan
Rajasthan Krishi Kalyan Abhiyan

कृषि कल्याण अभियान की शुरुआत 1 जून 2018 को केंद्र सरकार के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा किया गया। इसके तहत 20202 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा गया। शुरू में यह योजना 1 जून 2018 से 31 जुलाई 2018 तक के लिए ही थी। इस योजना के तहत किसानों को उत्तम तकनीक अपनाने और इनकी आय वृद्धि में सहायता और सलाह प्रदान करता है।

प्रथम चरण की सफलता के बाद द्वितीय चरण 2 अक्टूबर 2018 से 25 दिसम्बर 2018 तक देश के ग्रामीण इलाकों में यह अभियान चलाया गया। राजस्थान में चुनाव के मद्देनजर 26 जनवरी 2019 तक बढ़ा दिया गया। प्रधानमंत्री का 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने हेतु इस अभिन के स्वर किसानों को आधुनिक तथा वैज्ञानिक तरीको से खेती करवाया ज रहा है ताकि उनकी आय में वृद्धि हो सके साथ ही उनका जीवन स्तर में भी सुधार हो सके।

इस अभियान के तहत गाँवों का चुनाव कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा ग्रामीण विकास मंत्रालय के द्वारा किया गया है। इस योजना के अनुसार चयनित जिले के 25 ऐसे गाँवों को चुना गया है जिसकी जनसंख्या 1000 से अधिक हो। ऐसे चयनित गाँवों में कृषि को बढ़ावा देने के लिए उत्तम और वैज्ञानिक तरीको से खेती करने की सलाह और सहायता किसानों को दी जा रही है। इस कार्य में प्रत्येक जिले के कृषि विज्ञान केंद्र की भूमिका महत्वपूर्ण है।

कृषि कल्याण अभियान के तहत प्रमुख गतिविधियां :

द्वितीय कृषि कल्याण अभियान के अंतर्गत 12 गतिविधियां की जा रही है।

  • मृदा स्वास्थ्य कार्डो का वितरण
  • खुर एवं मुँह रोग से बचाव के लिए बोवाईन टीकाकरण
  • भेंड़ और बकरियों में पीपीआर बीमारी से वचाव के लिए सौ प्रतिशत कवरेज।
  • दालो और किट के मिनी किट का वितरण
  • प्रति परिवार पाँच बागवानी/ कृषि वानिकी/बाँस के पौधे का वितरण
  • प्रत्येक गाँव में 20 NADEP PITS (खाद बनाने की एक विधि) बनवाना
  • कृत्रिम गर्भाधान करवाना
  • कृषि उपकरणों का वितरण
  • बहुफसली कृषि के तौर-तरीकों का प्रदर्शन
  • ग्रामीण हाट का विकास एवं उन्नयन
  • सूक्ष्म सिंचाई/एकीकृत सिस्टम का प्रदर्शन
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के बारे में जागरूकता को फैलाने।

राजस्थान कृषि कल्याण अभियान 2022 का उद्देश्य (Rajasthan Krishi Kalyan Abhiyan 2022: Objectives)

कृषि कल्याण अभियान का मुख्य उद्देश्य किसानों तक आधुनिक कृषि पद्धति और कृषि से जुड़े अन्य व्यवसायों की जानकारी पहुँचाना है। इसी के तहत द्वितीय चरण में इस अभियान में किसानों को कृषि के मुख्य गुर के साथ साथ बागवानी, मुर्गीपालन, मछलीपालन, पशुपालन आदि के प्रशिक्षण किसानों को दिया जा रहा है। इसके लिये जगह का चुनाव कर प्रशिक्षण स्थलों की व्यवस्था की गई है जहाँ किसानों को सूक्ष्म सिंचाई और एकीकृत फसल के तौर-तरीके के बारे में जानकारी देने की व्यवस्था की गई है। साथ ही उन्हें नवीनतम खेती से भी आत्मसात करवाया जा रहा है।

राजस्थान कृषि कल्याण अभियान 2022 का लाभ (Rajasthan Krishi Kalyan Abhiyan 2022: Benefits)

  • किसानों को नवीनतम व् वैज्ञानिक कृषि की जानकारी होने से आय में वृद्धि
  • पशुपालन, मतस्यपालन, मुर्गीपालन अदि की वैज्ञानिक तरीको को अपना कर किसान अपनी आय में वृद्धि कर रहे हैं।
  • प्रत्येक गाँव में मधुमक्खी पालन, किचन गार्डन और मशरूम की खेती का प्रशिक्षण में किसान एवं महिलाएं बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रही है और अपने आय को बढ़ा रहे हैं।

कृषि कल्याण अभियान के तहत कृषि वैज्ञानिकों के द्वारा भूमिहीन व् घरेलु महिलाओं को ऑयस्टर मशरूम की खेती के साथ अपने किचन के लिए पौष्टिक सब्जियों की खेती किचेन गार्डन के सहयोग से सीखा रहे हैं। दूसरी तरफ किसानों को वैज्ञानिक तरीको से पशुपालन और दुग्ध उत्पादन के तौर तरीकों की जानकारी दे रहे हैं। साथ ही गोबर से वर्मी कम्पोस्ट और जैविक खाद बनाने में दक्ष किया जा रहा है।

कृषि पैदावार को बढ़ने के लिये इस अभियान के तहत वैज्ञानिकों द्वारा मिटटी की जाँच कर उर्वरा शक्ति की पहचान कर उनके अनुरूप खाद एवं फसल का चुनाव किया जा रहा है और दुगनी फसल उत्पादन कर 2022 तक किसानों की आय दुगनी करने का लक्ष्य प्राप्त किया जा रहा है।

राजस्थान सरकारी योजना 2022 सरकारी योजना List 2022 प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2022

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here