प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान 2022 | Pradhan Mantri Surakshit Matritva Abhiyan 2022

0
686
Pradhan Mantri Surakshit Matritva Abhiyan 2021
Pradhan Mantri Surakshit Matritva Abhiyan 2021

क्या है प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान 2022 (Pradhan Mantri Surakshit Matritva Abhiyan 2022)

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान भारत सरकार द्वारा चलाई गयी एक नई योजना है। प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान या योजना देश में तीन करोड़ से अधिक गर्भवती महिलाओं को अच्छी देख भाल की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए शुरू की गई है। प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के अनुसार हर महीने की निश्चित नवीं तरीक को सभी गर्भवती महिलाओं को व्यापक और गुणवत्तायुक्त प्रसव पूर्व देख भाल सेवाओं, जांच और दवाओं का न्यूनतम प्रदान करना सुनिश्चित किया गया है। प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत गर्भवती महिलाओं को सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों पर उनकी गर्भावस्था के 4 महीने के बाद अच्छी देख भाल सेवाओं का न्यूनतम पैकेज प्रदान किया जाता है। प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना की प्रमुख विशेषता यह है कि गर्भावस्था के दौरान अच्छी जांच सेवाएं ओबीजीवाई चिकित्सा अधिकारियों द्वारा उपलब्ध करायी जाती है।

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान 2022 के उद्देश्य (Pradhan Mantri Surakshit Matritva Abhiyan 2022: Objectives)

आम तौर पर, जब एक महिला गर्भवती होती है तो वह विभिन्न प्रकार की बीमारियों जैसे रक्तचाप, शुगर और हार्मोनल रोगों से ग्रस्त हो जाती है । प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के तहत गर्भवती महिलाओं के लिए अच्छे स्वास्थ्य और स्वतंत्र जांच प्रदान करने के साथ-साथ स्वस्थ बच्चे को जन्म देने का प्रयास है।

  1. प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना का मुख्य उद्देश्य गर्भवती महिलाओं के लिए एक स्वस्थ जीवन प्रदान करना है।
  2. प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना का उद्देश्य मातृत्व मृत्यु दर को कम करना भी है।
  3. प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना का उद्देश्य गर्भवती महिलाओं को उनके स्वास्थ्य के मुद्दों और रोगों के बारे में जागरूक करना और उनको इसके लिए शिक्षित करना है।
  4. महिलाओं को उनके गर्भवती के दौरान विभिन्न प्रकार की बीमारियों जैसे रक्तचाप, शुगर और हार्मोनल रोगों हो जाते है प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना का उद्देश्य गर्भवती महिलाओं को उनके बारे में जागरूक करना है फिर उनको उनकी बीमारियों के अनुसार चिह्नित किया जाता है। जिससे डॉक्टर आसानी से समस्या का पता लगा सकें और उनका इलाज कर सकें।
  5. प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना का उद्देश्य गर्भवती महिलाओं का टेस्ट चिकित्सा केन्द्रों, सरकारी और निजी अस्पतालों और देश भर के निजी क्लीनिक में करना है।

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान 2022 के लिए पात्रता (Pradhan Mantri Surakshit Matritva Abhiyan 2022: Eligibility)

  1. प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना सिर्फ गर्भवती महिलाओं के लिए ही लागू होती है।
  2. प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना उन महिलाओं के लिए है जो शहरी क्षेत्रों या अर्ध-शहरी क्षेत्रों से नहीं होती है।
  3. प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के अनुसार ग्रामीण इलाकों से गर्भवती माताओं को इस नि: शुल्क स्वास्थ्य देखभाल लाभ प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया जाता है।
  4. गर्भावस्था के 3 से 6 महीने में महिलाएं प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना का लाभ लेने के लिए इसकी पात्र होती है।

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना 2022 के लाभ (Pradhan Mantri Surakshit Matritva Yojana 2022: Benefits)

  1. प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के तहत, सभी सरकारी अस्पताल और स्वास्थ्य केंद्र हर महीने की नौ तारीख को सभी गर्भवती महिलाओं की निशुल्क चिकित्सा जांच करेंगे । जिस जांच में वो हीमोग्लोबिन की जांच, खून की जांच, शुगर के स्तर की जांच, ब्लड प्रेशर, वजन और अन्य सामान्य जांचें की जाएगी ।
  2. जब कोई भी महिला तीन से छह महीने का गर्भ धराड़ कर लेती है तो वो अपनी जांच के लिए किसी भी सरकारी अस्पताल, स्वास्थ्य केंद्र या फिर किसी भी किसी संबद्ध प्राइवेट अस्पताल में नियमित जांच के लिए संपर्क कर सकती है। प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के तहत प्राइवेट डॉक्टरों से भी अपील की गयी है कि वो प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना से जुड़े और अपनी सेवाएं देने की कोशिस करें।
  3. प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के अनुसार गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान उनके स्वास्थ्य समस्याओं के बारे में जानकारी दी जाएगी।
  4. गर्भवती महिलाएं खास कर आर्थिक तौर पर कमजोर तबकों की महिलाएं आम तौर पर कुपोषित का शिकार होती है। उन्हें गर्भधारण के दौरान महत्वपूर्ण पोषक तत्व भी नहीं मिल पाते। जिसका नतीजा यह होता है कि बच्चे में किसी न किसी प्रकार की कमी हो जाती है। साथ ही बच्चा पैदा होने के साथ ही कुपोषण का शिकार भी हो जाता है।
  5. अगर गर्भवती महिलाओं की समय-समय पर जांच की जाए तो नवजात शिशुओं में आने वाले कई समस्याय दूर हो जाती है। गरीबी और जागरुकता न होने के कारण कमजोर तबकों की ज्यादातर महिलाएं समय पर चिकित्सकीय सलाह और देखरेख का लाभ नहीं उठाती। इसके लिए ही प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना बनाई गयी है ताकि महिलाओं को किसी भी प्रकार की समस्या न हो।

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान 2022 के लिए कैसे करें आवेदन (Pradhan Mantri Surakshit Matritva Abhiyan 2022: Registration)

अगर आप भी प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना का लाभ लेना चाहते है या फिर आपके आस पास किस अस्पताल में इस स्कीम के माध्यम से इलाज हो रहा है इस बात कि जानकारी चाहते है तो आपको प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना पड़ेगा। और अगर आप इसके लिए आवेदन करना चाहते है। तो आपको इसके लिए ऑफलाइन आवेदन कर सकते है इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन नहीं किया जा सकता है।

  1. प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना में आवेदन करने के लिए आपको तीन फॉर्म (पहला फॉर्म, दूसरा फॉर्म, तीसरा फॉर्म) भरने होंगे।
  2. सबसे पहले गर्भवती महिलाए आंगनवाड़ी तथा निकट स्वास्थ्य केंद्र में जाकर पंजीकरण के लिए पहला फॉर्म लेना है। इसके बाद फॉर्म में पूछी गयी जानकारी का विवरण दर्ज करके जमा कर देना है।
  3. इसके बाद आपको आंगनवाड़ी तथा निकट स्वास्थ्य केंद्र में जाकर नियमित समय-समय पर दूसरा फॉर्म ,तीसरा फॉर्म में अपनी जानकारी का विवरण दर्ज करके वही जमा कर देना है।
  4. जब आप तीनो फॉर्म जमा कर देते हैं, तो इसके बाद आंगनवाड़ी तथा निकट स्वास्थ्य केंद्र वाले आपको एक स्लिप देते है।
  5. प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना का आवेदन फॉर्म महिला तथा बाल विकास मंत्रालय की ओफिसिअल वेबसाइट https://pmsma.nhp.gov.in/ से डाउनलोड कर सकते है।

इस प्रकार आपका प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन सफल हो जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here