प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना 2022 | Pradhan Mantri Rojgar Protsahan Yojana 2022

0
851
Pradhan Mantri Rojgar Protsahan Yojana 2021
Pradhan Mantri Rojgar Protsahan Yojana 2021

 

क्या है प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना 2022 (Pradhan Mantri Rojgar Protsahan Yojana 2022) जाने इसके उद्देश्य, लाभ और विशेषताएं

अगर आपकी नौकरी छुट गई या फिर आप खुद नौकरी छोड़ कर अपना कारोबार प्रारंभ करना चाहते है तो इससे प्रारंभ करने में सरकार आपकी पूरी मदद करेगी। अभी भारत में बेरोजगारी की बढती दर सरकार के लिए बहुत ही चिंता का विषय बना हुआ है। ऐसे में नौकरी उपलब्धता भी एक सीमा में बंधती जा रही है। ऐसे मुश्किल समय में सरकार की प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना आपके काम आ सकती है। प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना एक ऐसी योजना जिसके तहत केन्द्रीय सरकार नए कर्मचारियों को तीन साल के लिए कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) और कर्मचारी पेंशन योजना (EPS) के तहत 12 फीसद का योगदान देती है। प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का लाभ सिर्फ उनको मिलेगा जो ईपीएफओ के तहत 1 अप्रैल 2016 तक रजिस्टर्ड है। या फिर जिनका मासिक वेतन 15,000 रुपये तक हो या उससे कम हो। केन्द्रीय सरकार ने ये पूरा सिस्टम ऑनलाइन की हुई है। साथ ही आपको ये भी बता दे कि ये योजना आधार बेस्ड है। इससे पहले इस योजना का लाभ केवल कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) वालों को ही होता था।

जाने प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना 2022 से जुड़ी कुछ खास बातें (Important Points about Pradhan Mantri Rojgar Protsahan Yojana 2022)

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना के पात्र नियोक्ताओं को इस योजना के तहत लाभ उठाने के लिए जरूरी है कि वे अगस्त 2016 के बाद कर्मचारियों के रेफरेंस बेस में नये कर्मचारियों का नाम शामिल कर चुके हों। कर्मचारियों का रेफरेंस बेस कर्मचारियों की उस संख्या से निर्धारित किया जाएगा। जिसके बदले नियोक्ता ने 31 मार्च 2016 तक वेतन का 12 फीसद जमा करवाया हो। जिसमे 3.67 फीसद कर्मचारी भविष्य निधि और 8.33 फीस द कर्मचारी पेंशन योजना हो। यह मार्च 2016 के मासिक ईसीआर से सुनिश्चित किया जा सके। साथ ही आपको ये भी बता दे कि जो भी कंपनियां 1 अप्रैल 2016 के बाद रजिस्टर्ड हुई हैं उनका रेफरेंस बेस शून्य माना जाएगा। इस प्रकार नियोक्ता अपने सभी नये कर्मचारियों के लिए प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का लाभ प्राप्त कर सकता है।

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना की शर्तें (Pradhan Mantri Rojgar Protsahan Yojana 2022) | Eligibility

  1. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना के लिए आवेदक करने वाले व्यक्ति की उम्र 18-35 के बीच होनी चाहिए। सिर्फ उत्तर-पूर्वी राज्यों के नागरिकों के लिए उम्र-सीमा 18 से 40 वर्ष है।
  2. अगर कोई भी व्यक्ति प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का लाभ लेना चाहता है तो उससे सबसे पहले उनकी ऑफिसियल वेबसाइट पर खुद को रजिस्टर्ड करना होगा।
  3. जो भी व्यक्ति प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना के लिए आवेदन कर रहा है उसका मासिक वेतन 15,000 रूपए या उससे काम होना चाहिए। क्योंकि 15,000 रूपए से ज्यादा मासिक कमाने वाले व्यक्ति को प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का लाभ नहीं होगा।
  4. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना में SC/ST, महिलाओं, पूर्व सैनिकों और शारीरिक रूप से विकलांगों लोगों को थोड़ी ज्यादा छुट प्राप्त होगी।
  5. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को उस क्षेत्र में 3 साल या उससे ज्यादा का निवास प्रमाण होना चाहिए।
  6. जो भी व्यक्ति प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का लाभ उठाना चाहता है उससे कम से कम 8वीं पास होना अनिवार्य है। और आवेदन करने वाला व्यक्ति बैंक डिफॉल्टर नहीं होना चाहिए क्योंकि प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का लाभ बैंक डिफॉल्टर को नहीं होगा।

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना के उद्देश्य और विशेषताएं (Pradhan Mantri Rojgar Protsahan Yojana 2022) | Objectives

  1. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना के तहत आवेदन करता को 15% तक सब्सिडी मिलती है जो की 12,500 रूपए तक होती है। जबकि इस योजना के तहत कुछ मुश्किल क्षेत्रों के लिए सब्सिडी की सीमा थोड़ी ज्यादा होती है।
  2. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का उद्द्देश्य है कि नियोक्ता स्टाफ की EPS और EPF की चिंता किए बिना अपनी आवश्यकतानुसार जितनी आवश्यकता हो उतने स्टाफ को हायर कर सकता है। इससे फायदा यह होगा कि रोजगार में वृद्धि होगी।
  3. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का लाभ लेने के लिए जरूरी है कि नियोक्ता अपने व्यवसाय को श्रम सुविधा पोर्टल से LIN के लिए लेना अनिवार्य है।
  4. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का लाभ वही वयक्ति उठा सकता है जिसका पूर्व में EPFO पर UAN लिंक्ड अकाउंट हो। इस योजना में अप्लाई करने के लिए यह अनिवार्य शर्त है।
  5. क्या आपको पता है NGO भी प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का लाभ ले सकते है। जो कि ऊपर बताई गई सीमा के अनुसार ही होगी।
  6. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का उद्देश्य भारत से बेरोजगारी को कम करना और सभी बेरोजगारों को रोजगार प्रदान करना है।
  7. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने और देश को नई दिशा की ओर ले जाने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है।
  8. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का उद्द्देश्य नए नियोक्ता को शुरू में PF और EPS के बोझ से बचाना भी है।
  9. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना के तहत आवेदकों को प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाता है, जो कि क्षेत्र के अनुसार अलग-अलग अवधि का होता है।
  10. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना अपना खुद का व्यापार प्रारंभ करने पर ज्यादा प्रोत्साहन प्रदान करती है।

कार्यकाल और प्रशिक्षण (Pradhan Mantri Rojgar Protsahan Yojana 2022) | Term and Training

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना के लिए कार्यकाल 3 से 7 साल का है। तो वहीं व्यापार और सेवा क्षेत्र के लिए प्रशिक्षण 7 से 10 दिनों तक रहेगा। यह औद्योगिक क्षेत्र के लिए 15 से 20 दिन का होगा। प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना के लिए आवेदन करने के लिए आपको अपने निवास क्षेत्र के डीआईसी के महाप्रबंधक से संपर्क करना होगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here