प्रधानमंत्री जल जीवन अभियान 2022 | Pradhan Mantri Jal Jeevan Yojana 2022

0
561
Pradhan Mantri Jal Jeevan Yojana
Pradhan Mantri Jal Jeevan Yojana

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र माफी ने 15 अगस्त 2019 को 73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर जल जीवन अभियान की घोषणा की। इसका उद्देश्य सभी लोगो को स्वच्छ जल उपलब्ध करवाना है। जिसके लिए 2024 तक स्वच्छ जल पाइप लाइन पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है। देश में घटती हुई भू-जल स्तर की गम्भीरता को देखते हुए जल संरक्षण की तत्काल आवश्यकता है। अतः जल जीवन अभियान द्वारा स्थानीय स्तर पर पानी की एकीकृत मांग और जल आपूर्ति प्रबंधन पर ध्यान केंद्रित करेगा। इस अभियान पर तीन लाख साठ हजार करोड़ रूपये खर्च होने का अनुमान ह। जिसमें केंद्र सरकार 2.08 लाख करोड़ ₹ अंशदान देगी । अभी करीब 50% लोगो को पाइप लाइन की पानी नहीं मिल रहा है। देश में 17.87 करोड़ परिवारों में 81.67% लोगो के पास पाइप लाइन के जरिये जल नहीं पहुंचा है।

मिशन का नाम जल जीवन अभियान
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी
घोषणा 15 अगस्त 2019
उद्देश्य पेयजल हर घर स्वच्छ पहुँचाना।
लक्ष्य 2024 तक हर घर को पेयजल पाइप लाइन से जोडन्स।
अनुमानित लागत राशि 3.60 लाख करोड़ ₹।
लाभार्थी भारत के नागरिक।

प्रधानमंत्री जल जीवन अभियान 2022 के दिशा निर्देश (Pradhan Mantri Jal Jeevan Yojana 2022 : Guidelines)

राज्य में परिचालन एवं राखरकव खासकर पाइप लाइन से आने वाले जल आपूर्ति पर आने वाले खर्च से निपटने के लिए नीति तैयार की जायेगी। दिशा निर्देशों के अनुसार इससे राज्य उपभोक्ता समूह से शुल्क वसूल कर सकेंगे। इससे सरकारी खजाने पर अनावश्यक बोझ भी नहीं बढ़ेंगे। इस अभियान के लिए केंद्र सरकार अतिरिक्त संसाधन भी मुहैया कराएगी।

इस राशि का आवंटन राज्यो के बीच सेकल बजट प्रावधान के साथ किया जायेगा। दिशा निर्देशों के अनुसार जिन राज्यो का प्रदर्शन अच्छा रहेगा, उन्हें सरकार दूसरे राज्यो का बचा हुआ धन देकर प्रोत्साहित करेगी। मनरेगा के तर्ज पर ही केंद्र द्वारा जारी एक एकल अधिकृत खाते में रहेगा और राज्य जल एवं स्वच्छता मिशन इस खाते का रख रखाव करेगा। इस रकम पर लोक वित्त प्रबन्धन प्रणाली नज़र रखेगी।SWSM इस परियोजना के लिये त्वरित क्रियान्वयन लिए शर्त तैयार करने के साथ केंद्रीकृत निविदा के जरिये जानी-मानी निर्माण एजेंसियों/वेंडरों की नियुक्ति करेगा।

प्रधानमंत्री जल जीवन अभियान 2022 की मुख्य चुनौतियाँ (Pradhan Mantri Jal Jeevan Yojana 2022 : Challenges)

  • उपलब्ध मात्रा सरकारी आंकड़ो के अनुसार 2050 तक उपलब्ध कुल पानी, सभी क्षेत्रों में बढ़ती पानी की माँग को पूरा नहीं कर पायेगा, इसमें घरेलू क्षेत्र भी शामिल है। अगर पानी की मांग का प्रबंधन और पानी की कुशलता से उपयोग नहीं किया गया, तो घरों तक पानी की आपूर्ति करने में समस्या होगी।
  • संरक्षित और गुणवत्तापूर्ण पेय जल की व्यवस्था : यह योजना न केवल घरों को पाइप नेटवर्क से जोड़ने का है, बल्कि घरों में सुरक्षित और गुणवत्तापूर्ण पानी की आपूर्ति करने के लिए है। यह मिशन पर्याप्त और बेहतर स्वक्छता की बात करता है। स्वच्छ और स्वास्थ्य तरीको से लोगो तक सुरक्षित और सस्ता पानी पहुँचाना भी एक चुनौती है।
  • सुदूर गाँवों तक पानी पहुँचाना : इस सम्बन्ध मे मुख्य कठिनाई उन ग्रामीण परिवारों सुर वंचित समूहों तक पानी पहुंचाने में आएगी जो सुदूर पहाड़ी क्षेत्रों में रहते हैं, जहाँ पाइप के जरिये पानी पहुँचाना और नेटवर्क का निर्माण करना महँगा होगा तथा टिकाऊ भी नहीं होगा।
  • अभी तक सरकार की एक अन्य योजना के तहत ग्रामीण खेत्रो में 40 लीटर प्रतिदिन पीने के पानी का आपूर्ति का प्रावधान था। इस योजना के तहत उसे बढ़ाकर 55 लीटर प्रतिदिन प्रति व्यक्ति पानी आपूर्ति कराइ जायेगी। शहरो में प्रति व्यक्ति प्रतिदिन 135 लीटर पानी की आपूर्ति की जाती है। जीवनशैली में वृद्धि के कारण ग्रामीण क्षेत्रो में यह मांग बढ़ सकती है उस स्थिति में उनकी मांग शहरो के बराबर आना चाहे गई और उस समय आपूर्ति की समस्या उत्त्पन्न हो जायेगी।

प्रधानमंत्री जल जीवन अभियान 2022 का लाभ (Pradhan Mantri Jal Jeevan Yojana 2022 : Benefits)

  • पानी की समस्या से छुटकारा मिलेगा।
  • इस मिशन के अंतर्गत सभी घरों में स्वच्छ पेयजल मिलेगा।
  • जिन सुदूरवर्ती क्षेत्रो में पिने की पानी लेने के लिए कई-कई किलोमीटर चलकर जाना पड़ता था, उन्हें अब इस योजना के तहत घर बैठे पानी मिलेगा। लोगो के समय एवं परिश्रम में बचत होगी, जिनका इस्तेमाल वे अन्य आर्थिक कार्यो में कर अपना जीवन स्तर में सुधार ला सकेंगे।
  • जल संरक्षण को बढ़ावा मिलेगा।
सरकारी योजना List 2022 प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2022

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here