प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान 2022 | Pradhan Mantri Gramin Digital Saksharta Abhiyan 2022

0
926
Pradhan Mantri Gramin Digital Saksharta Abhiyan
Pradhan Mantri Gramin Digital Saksharta Abhiyan

डिजिटल साक्षरता का अर्थ होता है, किसी व्यक्ति को विभिन्न डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लिखकर, किसी भी तरह की गतिविधि डिजिटल माध्यम से करना, हर प्रकार की डिजिटल साक्षरता का इस्तेमाल करके अपने लेखन और अन्य मीडिया के माध्यम से स्पष्ट जानकारी खोजने, मूल्यांकन करने और बनाने की कौशल को बढ़ाना।

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान के अंतर्गत ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों को डिजिटल प्लेटफार्म का इस्तेमाल करने में सक्षम किया जायेगा शुरू में डिजिटल कौशल और स्टैंड-अलोन कंप्यूटरों पर ध्यान केंद्रित किया गया, इंटरनेट और सोशल मीडिया के उपयोग का उपयोग करके ग्रामीण लोगों को उनकी गतिविधियों की जानकारी प्रदान की जाएगी। डिजिटल साक्षरता को ज्ञान के मार्ग का एक हिस्सा समझते हुए सबको साक्षर किया जायेगा।

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान 2022 का उद्देश्य (Pradhan Mantri Gramin Digital Saksharta Abhiyan 2022: Objectives)

एक सर्वेक्षण के अनुसार, केवल 6% ग्रामीण परिवारों के पास कंप्यूटर है। 15 करोड़ से अधिक ग्रामीण परिवारों के पास कंप्यूटर नहीं हैं, ना ही इंटरनेट से संबंधित कोई संसाधन मौजूद हैं, जिस वजह से ग्रामीण इलाकों में डिजिटल साक्षरता की बहुत ही कमी है। उन इलाकों में रहने वाले लोगों को डिजिटल तौर पर साक्षर करने के लिए प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान का शुभारंभ किया गया।

डिजिटल साक्षरता अभियान एक डिस्टलाइजेशन की लहर है, जो शहरी इलाकों के साथ साथ देश के ग्रामीण इलाकों को भी पूर्ण तौर पर डिजिटल दौर की ओर बढ़ाने के लिए शुरू किया गया है। डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के तहत शुरू किए जा रहे प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल अभियान अभियान (पीएमजीडीआईएसएचए) के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में 6 करोड़ परिवारों को डिजिटल रूप से साक्षर बनाने का काम किया जायेगा।

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान को केंद्रीय मंत्रिमंडल के द्वारा मंजूरी दी गयी है। देश भर में संघ शासित प्रदेशों ताकि गैर-आईटी साक्षर नागरिकों को आईटी साक्षर बनने के लिए प्रशिक्षित किया जायेगा ताकि वे सक्रिय रूप से और प्रभावी ढंग से लोकतांत्रिक और विकासात्मक प्रक्रिया में भाग ले सकें और अपनी आजीविका बढ़ाने के साथ साथ अपने कौशल में वृद्धि पा सकें।

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान 2022 के लाभ (Pradhan Mantri Gramin Digital Saksharta Abhiyan 2022: Benefits)

  • गैर-आईटी साक्षर नागरिकों को आईटी साक्षर बनने के लिए प्रशिक्षित किया जायेगा।
  • कक्षा 9 वीं से 12 वीं तक के स्कूली छात्रों को डिजिटल रूप से साक्षर बनाने के लिए प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को डिजिटल साक्षरता अभियान के साथ जोड़ा जाएगा।
  • प्रशिक्षण प्रदान करने वाली संस्थाएं हर प्रकार से कंप्यूटर तथा डिजिटल प्लेटफॉर्म की जानकारी उपलब्ध करवाई जाएगी।
  • प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम की व्यवस्था की जाएगी।
  • प्रशिक्षण कार्यक्रम की अवधि 20 घंटे के लिए होती है जिसे न्यूनतम 10 दिनों और अधिकतम 30 दिनों में कोर्स पूरा करवाया जाएगा।
  • प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान के मद्देनजर प्रशिक्षण पूरा कर चुके लाभार्थियों को सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा।
  • टीसी प्राप्त करने के लिए 25 सवालों में से 7 सवालों का सही जवाब देने पर प्रदान किया जायेगा।

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान 2022 के लिए दिशा निर्देश (PM Gramin Digital Saksharta Abhiyan 2022: Guidelines)

  • इस योजना का लाभ केवल ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को ही मिलेगा।
  • ऐसे सभी घर जहां परिवार का कोई भी सदस्य डिजिटल रूप से साक्षर नहीं है, उनको योजना के तहत लाभ प्रदान किया जायेगा, परिवार के केवल एक व्यक्ति पर विचार किया जाएगा।
  • लाभार्थी को डिजिटली अनपढ़ होना आवश्यक है, तभी वह आवदेन कर सकता है।
  • 14 – 60 वर्ष के भीतर कोई भी व्यक्ति आवदेन कर सकता है।
  • केवल गैर-आईटी साक्षर नागरिकों को आईटी साक्षर बनने के लिए प्रशिक्षित किया जायेगा।
  • गैर-स्मार्टफोन उपयोगकर्ता, अंत्योदय घर, कॉलेज ड्रॉप-आउट, वयस्क साक्षरता मिशन के मद्देनजर आवदेन कर सकते हैं।
  • कक्षा 9 वीं से 12 वीं तक के स्कूली छात्र जिनके स्कूलों में कंप्यूटर / आईसीटी प्रशिक्षण की सुविधा उपलब्ध न हो और न ही वो डिजिटल तौर पर साक्षर हों।
  • अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, बीपीएल, महिलाओं, अलग-अलग व्यक्तियों और अल्पसंख्यकों को इस योजना के अंतर्गत पहल दी जाएगी।

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान 2022 के लिए आवश्यक दस्तावेज़ (PM Gramin Digital Saksharta Abhiyan 2022: Required Documents)

  • आधार कार्ड की कॉपी
  • एज प्रूफ
  • बैंक या पोस्ट ऑफिस खाता की पासबुक
  • आधार न होने पर पहचान संबंधी अन्य दस्तावेज़
  • दस्तावेज़, जिसमें यह सुनिश्चित हो कि व्यक्ति डिजिटल तौर पर साक्षर नहीं है
  • स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों के प्रमाण पत्र
  • एड्रेस
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान 2022 आवदेन प्रक्रिया (PM Gramin Digital Saksharta Abhiyan 2022: Registration Process)

  • इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय के समग्र पर्यवेक्षण के तहत उनके नामित राज्य कार्यान्वयन एजेंसियों, जिला ई-गवर्नेंस सोसायटी (डीजीएस), आदि के माध्यम से प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा।
  • इन एजेंसी, संस्थानों में प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा इसके पश्चात ही वह संस्थान प्रशिक्षण प्रदान करेंगे।
  • आवेदन करने के लिए आवेदक को आधिकारिक वेबसाइट https://www.pmgdisha.in/पर जाना होगा।
  • होम पेज पर Direct Candidate ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद Login फॉर्म खुल जायेगा।
  • लॉगिन फॉर्म के नीचे आपको Register का विकल्प दिखाई देगा, इस विकल्प पर क्लिक करने के बाद registration form खुल जायेगा।
  • इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में जानकारी जैसे UIDAI Number, Student Name, Gender, Date of Birth आदि भरने के बाद नीचे दिए गए निर्देश को पढ़कर सही के निशान पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद Add पर क्लिक करना होगा। फिंगरप्रिंट स्कैन करके या आँखों को स्कैन करके सत्यापित करके KYC करना होगा।
  • वैलिड मोबाइल नंबर भरने के बाद, ओटीपी भेजा जायेगा। सही ओटीपी इंटर करने के बाद वैलिडेट ओटीपी पर क्लिक करना होगा।
  • फिर स्टूडेंट टैब में जाकर जानकारी भरने के पश्चात एक बार रजिस्ट्रेशन हो जाने के बाद छात्र उसमें यूजर आईडी और पासवर्ड जनरेट करके अपना नया अकाउंट खोल सकते हैं।
Pradhan Mantri Gramin Digital Saksharta Abhiyan
Pradhan Mantri Gramin Digital Saksharta Abhiyan

ट्रेनिंग सेंटर खोलना

  • देश के जो इच्छुक लाभार्थी अपना ट्रेनिंग सेंटर खोलना चाहते है, उनको खोलने की सुविधा भी प्रदान की जाएगी।
  • सबसे पहले CSC-SPV ट्रेनिंग पार्टनर बनना पड़ेगा।
  • NGO, संस्थान या कंपनी ट्रेनिंग पार्टनर बनने के लिए भारत में पंजीकृत एक संगठन होना चाहिए।
  • तीन साल से अधिक समय तक शिक्षा/आईटी साक्षरता के क्षेत्र में व्यवसाय का संचालन करना, पिछले तीन वर्षों के खातों का परीक्षित विवरण (audit) देना पड़ेगा।
  • ट्रेनिंग सेंटर खोलने के लिए आवेदन करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • होम पेज खुलने पर ट्रेनिंग के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आरडी इंस्टॉलेशन यूजर मैनुअल के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • मैनुअल फॉर आरडी इंस्टॉलेशन खुलकर आ जाएगा, इसे डाउनलोड कर कर आरडी इंस्टॉल हो जायेगा।
  • इसके अलावा ट्रेनिंग सेंटर लोकेटर ऐप डाउनलोड करने की सुविधा प्रदान की गई है।
  • टीसी लोकेटर ऐप डाउनलोड करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • होम पेज पर ट्रेनिंग के लिंक पर क्लिक करने के पश्चात टीसी लोकेटर ऐप के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • ऐप डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा, फिर इसे इनस्टॉल किया जायेगा।
  • ट्रेनिंग के लिंक से ही पीएमजीदिशा लर्निंग ऐप के लिंक पर क्लिक करके लर्निंग भी डाउनलोड हो जाएगा।
  • इसके अलावा दिशा रजिस्ट्रेशन ऐप के लिंक पर क्लिक करके दिशा रजिस्ट्रेशन ऐप डाउनलोड हो जाएगा।

हेल्पलाइन नंबर

यदि किसी व्यक्ति को कोई सवाल है या कोई परेशानी है तो हेल्पलाइन नंबर भी उपलब्ध कराया गया है, जहां पर संपर्क किया जा सकता है।

1800 3000 3468

यह सरकार द्वारा घोषित एक बहुत ही महत्वाकांक्षी योजना है, डिजिटल रूप से साक्षर व्यक्ति कंप्यूटर / डिजिटल एक्सेस डिवाइस (जैसे टैबलेट, स्मार्ट फोन, आदि) संचालित कृष्णकरने, ईमेल भेजने और प्राप्त करने, इंटरनेट ब्राउज़ करने, सरकारी सेवाओं का उपयोग करने, सूचना की खोज करने, कैशलेस लेनदेन करने, आदि का संचालन करने और इसलिए आईटी का उपयोग करने तथा किसी भी डिजिटल प्लेटफॉर्म पर काम करने में सक्षम होंगे।

डिजिटल अभियान से ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों कि जीवन में सुधार होगा, डिजिटल माध्यम से जुड़ पाएंगे तथा इसका लाभ उठा पाएंगे; देश भी प्रगति की ओर बढ़ेगा।

सरकारी योजना List 2022 प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2022

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here