Pradhan Mantri Kusum Yojana 2022| PM Kusum Yojana Online Registration

0
2095
Pradhan Mantri Kusum Yojana
Pradhan Mantri Kusum Yojana

प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2022| PM Kusum Yojana

भारत सरकार ने किसानों को सिंचाई के लिए सौर ऊर्जा पर चलने वाले सोलर पंप प्रदान करने के लिए कुसुम योजना नामक एक योजना की शुरुआत की। इस योजना के अंतर्गत देश के किसानों को सिंचाई के लिए सोलर पंप खरीदने के लिए उत्साहित किया जाएगा। किसानों को सोलर पंप खरीदने के लिए सरकार द्वारा सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

इस योजना की घोषणा केंद्र सरकार द्वारा 2019 की बजट में पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा की गई थी। उन्होंने इस योजना की घोषणा करते वक्त कहा था कि देश के किसानों को सिंचाई के लिए सोलर पंप खरीदने के लिए प्रेरित किया जाएगा क्योंकि सोलर किसानों को फ्री में बिजली उपलब्ध हो जाएगी, इस सुविधा से किसानों को सिंचाई करने में आसानी हो जाएगी। जिससे काफी हद तक किसानों को फायदा होगा।

 कुसुम योजना का बजट

इस योजना के लिए 10,000 करोड़ रुपए का प्रावधान रखा गया है। यह बजट केंद्र सरकार द्वारा जारी किया गया है। इस योजना का संचालन कृषि एवं ऊर्जा मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत 2022 तक 3 करोड़ सोलर पंप किसानों को उपलब्ध करवाए जाएंगे।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना का उद्देश्य | Pradhan Mantri Kusum Yojana 2022 : Objectives

देश के अधिकतर किसान सिंचाई के लिए या तो बारिश पर निर्भर होते हैं या फिर उन्हें डीजल से चलने वाले सिंचाई उपकरणों का इस्तेमाल करना पड़ता है। इससे किसानों को बिजली का खर्चा एवं उपकरण पर आने वाले अन्य खर्च पूरे करने के साथ-साथ फसल का भी ध्यान रखना होता है। इन सिंचाई उपकरणों की वजह से फसल पर आने वाली लागत बढ़ जाती है जबकि उनकी आमदनी में वृद्धि नहीं हो पाती। किसानों की मदद के लिए तथा सिंचाई के नवीन उपकरणों से किसानों को अवगत करवाने के लिए इस योजना को शुरू किया गया है। कुसुम योजना का मुख्य उद्देश्य पुरातन सिंचाई उपकरणों की जगह आधुनिक सिंचाई उपकरणों का इस्तेमाल करके किसानों की आमदनी में वृद्धि करना है ।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2022 के लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत किसानों को सोलर पैनल उपलब्ध करवाए जाएंगे।
  • सोलर पैनल पर आने वाले खर्च पूरा करने के लिए सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गतसोलर पंप की कीमत का 60% भुगतान केंद्र सरकार द्वारा किया जाएगा, शेष 30% लोन किसानों को उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • केवल 10% का भुगतान किसानों द्वारा किया जाएगा।
  • कुसुम योजना उन स्थानों के लिए बहुत फायदेमंद होगी, जहां पर बिजली की समस्या रहती है क्योंकि सोलर पंप चलाने के लिए जो सोलर पैनल लगाए जाएंगे, बिजली उन सोलर पैनल तैयार हो जाया करेगी।
  • सोलर प्लांट लगाने से जो भी बिजली बनेगी, उसमें बची हुई बिजली किसान सरकारी और गैर सरकारी विभागों को बेच सकता है; जिससे किसानों को बहुत फायदा होगा।
  • यदि किसान सोलर पैनल से बिजली तैयार करके बिजली विभागों को भेजेंगे, तो उन्हें एक महीने की ₹6000 की मदद मिल सकती है।
  • सोलर पैनल लगाने से किसानों को फ्री में बिजली उपलब्ध हो जाएगी।
  • किसान अपने खेतों में 1 मेगावाट क्षमता वाला सोलर पैनल लगवा सकेंगे।
  • 1 मेगावाट क्षमता वाले सोलर पैनल से साल भर में लगभग 11 लाख यूनिट बिजली पैदा की जा सकती है, जिससे किसानों को बहुत फायदा होगा।
  • डीजल से चलरहे सिंचाई पंपों को सौर ऊर्जा से चलने वाले सिंचाई पंपों से बदला जाएगा क्योंकि सोलर ऊर्जा से चलने वाले सिंचाई पंप कम मात्रा में बिजली की खपत करते हैं।
  • इस योजना के तहत पंजीकरण करवा चुके लाभार्थी को 90 से 120 दिनों के भीतर सोलर पैनल चालू करने की व्यवस्था कर दी जाएगी।
  • इस योजना से बिजली की बचत होगी।
  • किसानों की आमदनी में वृद्धि होगी।
  • इस योजना के तहत किसानों को प्रति वर्ष ₹80,000 कमाने का अवसर प्राप्त होगा।
  • पर्यावरण भी स्वच्छ रहेगा क्योंकि सोलर पंप चलने से किसी भी प्रकार का प्रदूषण नहीं होता, न ही पर्यावरण को कोई हानि होती है।
  • इसके अतिरिक्त किसान सोलर पैनल के नीचे सब्जी या छोटी फसलें उगा सकते हैं, यानी किसानों की भूमि सारी भूमि इस्तेमाल हो पाएगी।
  • सोलर पैनल से बिजली का उत्पादन भी किया जा सकेगा।
Pradhan Mantri Kusum Yojana
Pradhan Mantri Kusum Yojana

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत जारी किए गए दिशा निर्देश | Pradhan Mantri Kusum Yojana : Guidelines

  • इस योजना का लाभ केवल देश के किसानों को दिया जाएगा।
  • अधिकतर सोलर सोलर पैनल बंजर भूमि में लगाए जाएंगे।
  • सोलर पैनल खरीदने के लिए 10% भुगतान किसानों को ही करना होगा।
  • लाभार्थी किसान को अपनी भूमि से संबंधित सारे दस्तावेज की कॉपी जमा करवानी होगी।
  • किसानों का बैंक में खाता होना अनिवार्य है यदि किसानों का बैंक में खाता नहीं है, तो पहले उन्हें बैंक में खाता खुलवाना होगा; तभी इस योजना के लिए आवेदन कर पाएंगे।
  • किसानों को अपनी आमदनी का ब्यौरा भी देना होगा।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना आवश्यक दस्तावेज | Pradhan Mantri Kusum Yojana: Required Documents

  • आधार कार्ड
  • मूलनिवासी पहचान पत्र
  • परमानेंट रेजिडेंट सर्टिफिकेट
  • भूमि की डिटेल जैसे की जमाबंदी, खसरा, खतौनी नंबर आदि
  • खाते की पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

प्रधानमंत्री कुसुम योजना आवेदन प्रक्रिया | Pradhan Mantri Kusum Yojana 2022: Registration Process

इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए लाभार्थी को ऑनलाइन सुविधा प्रदान की गई है। ऑनलाइन आवेदन करने के करने के लिए लाभार्थी को निम्नलिखित स्टेप्स फॉलो करने होंगे।

  • लाभार्थी को सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट https://mnre.gov.in/ पर जाना होगा।
  • इसके बाद होम पेज पर कुसुम योजना के लिए आवेदन करें / Apply for KUSUM Schemeका लिंक दिखाई देगा, इस लिंक को क्लिक करना होगा।
  • इस लिंक को क्लिक करने के बाद एक नया पेज खुलेगा, जहां पर एप्लीकेशन फॉर्म दिखाई देगा।
  • इस एप्लीकेशन फॉर्म में आवेदक को अपना नाम, स्थाई पता, आधार संख्या, पासबुक नंबर, मोबाइल नंबर तथा अन्य जानकारी तथा जमीन से संबंधित अन्य जानकारी भरनी होगी।
  • सारी जानकारी भरने के पश्चात सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
  • आवेदन करने के बाद विभागीय अधिकारियों द्वारा किसानों के नाम की एक सूची तैयार की जाएगी। उसी सूची के आधार पर किसानों को लाभ प्रदान किया जाएगा।

 कुसुम योजना लिस्ट

  • योजना में नाम चेक करने के लिए सबसे पहले आवेदक को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आवेदक को कुछ विकल्प दिखाई देंगे, जिसमें लिखा होगा कुसुम के लिए पंजीकृत आवेदकों की सूची इस सूची लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • लिंक पर क्लिक करते ही दूसरा पेज खुल जाएगा।
  • इस पेज पर सिलेक्टेड करने के लिए विकल्प आएगा, जहां पर आवेदक को अपना नाम भरने के बाद सर्च पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद नाम की सूची स्क्रीन पर आ जाएगी।
  • यदि किसान का नाम सूची में दर्ज होगा तो उस किसान को कुसुम योजना के तहत लाभ प्रदान किया जाएगा, सोलर पंप लगवाने के लिए सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

कुसुम योजना की शुरुआत करके केंद्र सरकार ने किसानों को पुरातन उपकरणों से निजात दिलवाने की कोशिश की है। सोलर पैनल की सुविधा से किसानों को सिंचाई करने में आसानी हो जाएगी। जिन राज्यों में पानी की कमी होती है, वहां पर किसानों को सोलर पैनल लगवा कर दिए जाएंगे, जिससे किसानों को सिंचाई के लिए बारिश पर निर्भर होना नहीं पड़ेगा।

किसानों की आमदनी में वृद्धि होगी, साथ ही बंजर भूमि में सोलर पैनल लगने से बंजर भूमि का भी सदुपयोग होगा। किसान बिजली का उत्पादन करके बिजली को बिजली विभाग में बेच भी सकते हैं। जिससे किसानों को फसल के साथ-साथ बिजली बेचने पर भी लाभ होगा। किसान सालाना ₹80,000 केवल बिजली उत्पादन करके प्राप्त कर सकेंगे। किसानों की आमदनी के साथ-साथ देश की आर्थिक व्यवस्था पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

सरकारी योजना List प्रधानमंत्री सरकारी योजना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here