मिशन इंद्रधनुष योजना 2021 | Mission Indradhanush 2021

0
1769
Mission Indradhanush
Mission Indradhanush

जाने क्या है मिशन इंद्रधनुष योजना 2021 (Mission Indradhanush 2021) और आप कैसे उठा इसके है इसका लाभ

क्या आपको पता है मिशन इंद्रधनुष योजना क्या है और आप कैसे इसका लाभ उठा सकते है। मिशन इंद्रधनुष योजना मोदी सरकार द्वारा चलाई गयी योजनाओं में से एक है। हमारे देश में हरेक बच्चे को, बचपन में होने वाली ऐसी सभी बीमारियों से बचे रहने के लिए सम्पूर्ण टीकाकरण करवाने का हक है। जिनसे बचाव मुमकिन है। हरेक बच्चे को यह हक देने के लिए भारत सरकार ने 1985 में सम्पूर्ण टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत की थी जो की पूरी दुनिया भर में अपनी तरह के सबसे बड़े स्वास्थ्य कार्यक्रमों में से एक है। यूआईपी द्वारा चलाया जा रहा टीका पिछले 30 साल सभी बच्चों को लगाया जा रहा है। इसके बावजूद भी अभी तक सिर्फ 65 प्रतिशत बच्चों को ही उनके जीवन के पहले साल में सम्पूर्ण टीकाकरण किया जा रहा है। पिछले 6 साल में इस मिशन इंद्रधनुष योजना कार्यक्रम के तहत कवरेज में बढ़ोत्‍तरी हर साल औसतन 1 प्रतिशत पर स्थिर रही है। इस कार्यक्रम को मजबूती देने और सभी बच्चों का जल्‍द से जल्‍द सम्पूर्ण टीकाकरण करने के लिए भारत सरकार ने दिसम्बर 2014 में मिशन इंद्रधनुष लांच किया। मिशन इंद्रधनुष में इस बात का विशेष ध्‍यान रखा जाएगा कि दो साल तक के सभी बच्चों और गर्भवती महिलाओं का सम्‍पूर्ण टीकाकरण किया जाए।

मिशन इंद्रधनुष योजना 2021 के तहत सात बीमारियां (Mission Indradhanush 2021)

प्रधानमंत्री मोदी सरकार द्वारा चलाई गयी मिशन इंद्रधनुष योजना के तहत सात बीमारियों डिप्थीरिया, काली खांसी, टेटनस, पोलियो, टीबी (क्षय रोग), खसरा और हेपेटाइटिस-बी रोगों की पहचान की गई है।

मिशन इंद्रधनुष योजना 2021 टीकाकरण क्यों जरूरी है (Mission Indradhanush 2021: Importance)

  1. मिशन इंद्रधनुष के तहत टीकाकरण कराना इसलिए जरूरी है, क्‍योंकि बच्‍चों की मौत ऐसी बीमारियों से होती है, जिनसे उन्‍हें बचाया जा सकता है।
  2. क्या आपको पता है हमारे देश में हर साल 5 लाख बच्चों की मौत ऐसी बीमारियों से हो जाती है, जिनसे टीके लगवा कर उन्हें बचाया जा सकता है।
  3. साथ ही हमारे देश में हर साल 89 लाख बच्चों को बीमारियों का खतरा इसलिए है, क्योंकि उन्हें उन बीमारियों से बचाव का एक भी टीका नहीं लगा है अगर है भी तो अधूरे टीके लगे हैं।
  4. अधूरा टीकाकरण कराने वाले और टीकाकरण से पूरी तरह वंचित बच्चों में बचपन में होने वाली बीमारियों का खतरा सबसे ज्यादा होता है। इस लिए ही मिशन इंद्रधनुष के तहत बच्चों को ठीके लगवाए जाते है।
  5. सम्पूर्ण टीकाकरण कराने वाले बच्चों की तुलना में अधूरा टीकाकरण कराने वाले बच्चों की मौत का अंदेशा ज्यादा होता है। टीकाकरण सिर्फ बच्‍चों की जिंदगी ही नहीं बचाता, बल्कि यह बीमारियों को बड़े पैमाने पर फैलने से रोकने में मदद भी कर सकता है।
  6. बचपन में टीकाकरण करने से बीमारी को दूसरे इलाकों में फैलने से रोकने में भी मदद मिल सकती है। इतना ही नहीं, टीकाकरण स्वास्थ्य व्यवस्था को मजबूत बनाने में भी मदद करता है। इसी लिए अगर आप भी शिशु मृत्यु दर में कमी लाना चाहते हैं और सामाजिक-आर्थिक इंडिकेटर्स के लिहाज से आगे बढ़ना चाहते हैं, तो अपने बच्चे का सम्पूर्ण टीकाकरण कराये।

मिशन इंद्रधनुष योजना 2021 का लक्ष्य (Mission Indradhanush 2021: Aim)

  1. मिशन इंद्रधनुष योजना का मुख्य लक्ष्य दो साल तक के बच्चों और गर्भवती महिलाओं का सम्‍पूर्ण टीकाकरण कराना है। यह मिशन, टीकाकरण के काम में तेज़ी लाने और देश के सभी बच्चों का सम्पूर्ण टीकाकरण करने के लिए शुरू किया गया है।
  2. मिशन इंद्रधनुष योजना की रुपरेखा मोदी सरकार ने बहुत सोच-विचार करके बनायी गई है, ताकि स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था मजबूत बने और उसकी यह मजबूती भविष्‍य में भी बरकरार रहे। पिछले कुछ बरसों से, भारत में सम्पूर्ण टीकाकरण कवरेज के काम में सिर्फ एक प्रतिशत सालाना बढ़ोत्‍तरी हुई है।
  3. भारत सरकार ने देश के 28 राज्यों के 201 ऐसे जि़लों की पहचान की है, जिनमें अधूरा टीकाकरण कराने वाले और टीकाकरण से पूरी तरह वंचित बच्चों की संख्या सबसे ज्‍यादा है।
  4. मिशन इंद्रधनुष योजना के तहत, विशेष टीकाकरण अभियानों के जरिये देश में नियमित टीकाकरण की कवरेज को बेहतर बनाने के लिए इन जिलों पर खास ध्‍यान दिया जाएगा।
सरकारी योजना List 2021 प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2021

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here