मेक इन इंडिया 2022 निर्माण उद्योग के लिए नया बुनियादी ढांचा | Make in India New Infrastructure 2022

0
803
Make in India New Infrastructure
Make in India New Infrastructure

दूसरा स्तंभ :- मेक इन इंडिया 2022 निर्माण उद्योग के लिए नया बुनियादी ढांचा | Make in India New Infrastructure 2022

मेक इन इंडिया का दूसरा स्तंभ मेक इन इंडिया 2022 निर्माण उद्योग के लिए नया बुनियादी ढांचा है। नया बुनियादी ढांचा भारत देश के औद्योगिक साम्राज्य को बढ़ाने के लिए अपनाया जाएगा। इसके तहत के देश में जितने भी उद्योग, कारोबार, कारखाने भले ही वह किसी भी क्षेत्र से संबंधित है चल रहे हैं; उन उद्योगों, कारखानों की व्यवस्था अथवा आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने के लिए भारत सरकार द्वारा प्रयास किए जाएंगे।

पुरातन बुनियादी ढांचे को नए बुनियादी ढांचे में तब्दील किया जाएगा। पुराने समय में जितने भी कारोबार देश के अंदर चल रहे थे, उन सभी उद्योगों को कच्चे माल के लिए विदेशी कंपनियों पर निर्भर रहना पड़ता था। इस निर्भरता को आत्मनिर्भरता में बदलने के लिए मेक इन इंडिया 2022 के तहत औद्योगिक बुनियादी ढांचे में तब्दीलियां की जाएंगी, ताकि विदेशी कंपनियों पर निर्भर होने की आवश्यकता ना पड़े।

नया बुनियादी ढांचा | Make in India 2022 New Infrastructure 2022

उद्योगों के विकास के लिए आधुनिक और सुविधाजनक बुनियादी ढांचे की उपलब्धता बेहद महत्वपूर्ण जरूरत है और इसी जरूरत को पूरा करने के लिए मेक इन इंडिया का दूसरा स्तंभ निर्धारित किया गया है। इस योजना के तहत सरकार आधुनिक हाई-स्पीड कम्युनिकेशन और इंटग्रेटेड लॉजिस्टिक अरेंजमेंट्स के साथ देश के अंदर चलने वाले उद्योगों को आधुनिकता प्रदान करेगी। इसके साथ उत्कृष्ट तकनीक पर आधारित इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध कराने के लिए इंडस्ट्रियल कॉरिडोर्स का अरेंजमेंट भी किया जाएगा।

नए बुनियादी ढांचे के तहत की जाने वाली गतिविधियां | Make in India 2022 New Infrastructure 2022 : Activities

  • हाई-स्पीड कम्युनिकेशन
  • इंटग्रेटेड लॉजिस्टिक अरेंजमेंट्स
  • स्मार्ट सिटी
  • भारत में ही सभी प्रकार के प्रोडक्टस का निर्माण

इन सभी गतिविधियों का विस्तृत वर्णन निम्नलिखित प्रकार है:-

हाई-स्पीड कम्युनिकेशन 2022 | High Speed Communication 2022

हाई स्पीड कम्युनिकेशन का अर्थ होता है किसी भी पूछे गए सवाल तुरंत जवाब सरल शब्दों में कहें तो हाई स्पीड कम्युनिकेशन बहुत ही तेज गति में जल्दी वार्तालाप करने की गतिविधि को कहते हैं। मेक इन इंडिया के दूसरे स्तंभ के तहत भारतीय उद्योगों में हाई स्पीड कम्युनिकेशन का इस्तेमाल करते हुए सभी प्रकार के उद्योगों तक मेक इन इंडिया 2022 के द्वारा जारी की गई योजनाओं को अथवा सेवाओं को पहुंचाया जाएगा। हाई स्पीड कम्युनिकेशन के द्वारा उद्योगों की वार्तालाप गति को तेज किया जाएगा ताकि औद्योगिक आवश्यकताओं को समय पर पूरा किया जा सके।

हर एक राज्य में जितने भी उद्योग हैं, उन सभी उद्योगों को हाई स्पीड कम्युनिकेशन के साथ जोड़कर उनकी समस्याओं को सुलझाने की कोशिश की जाएगी। किसी भी प्रकार की समस्या आ रही हो या फिर उद्योग से संबंधित जानकारी प्राप्त करनी हो, यह सारी सेवाएं हाई स्पीड कम्युनिकेशन के द्वारा उन तक जल्द से जल्द पहुंचाने का कार्य किया जाएगा।

इंटग्रेटेड लॉजिस्टिक अरेंजमेंट्स 2022 | Integrated Logistic Arrangement 2022

कारखाने, उद्योग, फैक्ट्रियां सभी औद्योगिक आवश्यकताओं के लिए एक दूसरे पर निर्भर होती है, इसलिए केवल एक राज्य की कंपनियों, कारखानों या उद्योगों को नहीं बल्कि पूरे देश के अंदर सभी राज्यों की कंपनियों को इंटीग्रेटेड लॉजिस्टिक्स अरेंजमेंट के तहत एक दूसरे से कनेक्ट करने के कार्य किए जाएंगे। यह सारे कार्य मेक इन इंडिया के दूसरे स्तंभ मेक इन इंडिया 2022 निर्माण उद्योग के लिए नया बुनियादी ढांचा के अंतर्गत किए जाएंगे।

पुरातन बुनियादी ढांचे में सिर्फ एक राज्य के उद्योग एक दूसरे से जुड़े रहते थे परंतु नए बुनियादी ढांचे के अंतर्गत पूरे देश में हर एक राज्य में चलने वाले उद्योगों को एक साथ जोड़ कर औद्योगिक गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाएगा, इससे उद्योगों की आर्थिक स्थिति काफी हद तक मजबूत होगी।

स्मार्ट सिटी 2022 | Smart City 2022

मेक इन इंडिया के दूसरे स्तंभ मेक इन इंडिया 2022 निर्माण उद्योग के अंतर्गत देश के अंदर स्मार्ट सिटी का निर्माण भी किया जाएगा। सभी राज्यों में ऐसी स्मार्ट सिटी का निर्माण किया जाएगा,जहां पर रहने की अच्छी व्व्यवस्था होगी। रोजगार के अवसर होंगे, हर सहूलियत होगी, आधुनिक तर्ज पर विदेशों की तरह ही आधुनिक स्मार्ट सिटी का निर्माण किया जाएगा। स्मार्ट सिटीज में औद्योगिक गतिविधियों को बढ़ाने के कार्य भी किए जाएंगे अथवा लोगों को हर प्रकार की सहूलियत और काम के अवसर प्रदान किए जाएंगे।

भारत में ही सभी प्रकार के प्रोडक्टस का निर्माण 2022 | All Product Construction in India 2022

पुराने समय में भारतीय उद्योगों को कच्चे माल के लिए विदेशी कंपनियों पर निर्भर होकर रहना पड़ता था। उन्हें कच्चा माल विदेशी कंपनियों से मंगवाना पड़ता था; जिसको मंगवाने में भारी मात्रा में विदेशी मुद्रा की कमी हो जाती थी। इससे देश की अर्थव्यवस्था पर भी गहरा असर पड़ता था क्योंकि विदेशी कंपनियों से कच्चा माल इंपोर्ट करवाने पर काफी ज्यादा अंतरराष्ट्रीय टैक्स अदा करना पड़ता था; इसी समस्या के निवारण के लिए भारत में ही निर्माण उद्योग को बढ़ावा देने के लिए मेक इन इंडिया के दूसरे स्तंभ मेक इन इंडिया 2022 निर्माण उद्योग के अंतर्गत कई सारी योजनाएं तैयार की गई है। हर प्रकार के जतन किए जाएंगे कि देश के अंदर ही सभी प्रकार के प्रोडक्ट का निर्माण हो और विदेशी कंपनियों से सामान इंपोर्ट करवाने की आवश्यकता ना पड़े।

भारतीय कंपनियों को ही इस लायक बनाया जाएगा कि हर तरह का प्रोडक्ट भारत में ही निर्मित किया जाए, स्वदेशी प्रोडक्ट 2022 (Swadeshi Products 2022) को ही सारे देश के अंदर बनाकर बेचा जाए और जितने भी उपयोग है; उनकी आवश्यकताओं को भारतीय विनिर्माण उद्योगों की मदद से ही पूरा किया जाए, इसी उपलक्ष्य में मेक इन इंडिया 2022 निर्माण उद्योग हरेक गतिविधि को अंजाम दे रहा है।

मेक इन इंडिया का दूसरा स्तम्भ निर्माण क्षेत्र पर ही आधारित है। सारी गतिविधियां, सारे कार्य, सारे कदम इसी सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए उठाये जायेंगे ताकि विदेशों पर निर्भरता को कम किया जा सके और देश की अर्थव्य्वस्था एवं बुनियादी ढांचे में अच्छे परिवर्तन करके भारतीय उद्योगों को भी आधुनिक दौर के बराबर खड़ा किया जा सके। यह सब करने के लिए मेक इन इंडिया कार्यशील है।

सरकारी योजना List 2022 प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2022

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here