मेक इन इंडिया नए कारोबार 2022 (मेक इन इंडिया का पहला स्तम्भ) | Make in India New Business 2022| Make in India First Pillar – New Business

0
1124
Make in India New Business 2021
Make in India New Business 2021

भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने के लिए 25 सितंबर, 2014 में मेक इन इंडिया कार्यक्रम का आगाज किया गया। इस कार्यक्रम की घोषणा के भारत देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा की गई। देश में मजबूत विकास और व्यापार में समग्र दृष्टिकोण में सुधार और निवेश के अच्छे अवसर प्रदान करने के लिए मेक इन इंडिया कार्यक्रम को पूरे देश में लागू किया गया। जिस को लागू करने का मुख्य मकसद देश को विश्व स्तर पर विकसित देशों की श्रेणी में लाना है, इसी तरफ कदम बढ़ाते हुए मेक इन इंडिया के चार स्तंभ निर्धारित किए गए। मेक इन इंडिया कार्यक्रम इन चार स्तंभों पर आधारित है।

मेक इन इंडिया का पहला स्तंभ मेक इन इंडिया नए कारोबार 2022 है। इस स्तंभ के अनुसार भारत देश के अंदर नए कारोबार तथा उद्योगों का विस्तार किया जाएगा। देश के हर एक राज्य में उद्योगों को प्रफुल्लित करने तथा नए उद्योग शुरू करने के लिए लोगों की सहायता की जाएगी। निर्माण क्षेत्र में इस कार्यक्रम के अंतर्गत बढ़ोतरी की जाएगी अर्थात निर्माण क्षेत्र पर ज्यादा ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

निर्माण क्षेत्र में और उद्यमशीलता को बढ़ाने के लिए निवेश के लिए अनुकूल माहौल बनाया जाएगा। सरकार द्वारा यह प्रयत्न किए जाएंगे के विदेशी कंपनियां भारतीय उद्योगों पर निवेश करें, इसके अलावा उद्योगों को आधुनिक तर्ज पर विकसित किया जाएगा एवं बुनियादी ढांचे में बदलाव किए जाएंगे।

मेक इन इंडिया नए कारोबार 2022 का उद्देश्य | Make in India New Business 2022: Objectives

देश के उद्योगिक समर्थ्य को बढ़ाने एवं उद्योगों को आधुनिक वातावरण के अनुकूल बना के कारोबार के नए अवसर प्रदान करना ही मेक इन इंडिया के पहले स्तंभ मेक इन इंडिया नए कारोबार 2022 का मुख्य उद्देश्य है।

मेक इन इंडिया नए कारोबार 2022 के तहत निर्धारित किये गए उद्योगिक क्षेत्र | Make in India New Business 2022

मेक इन इंडिया नए कारोबार 2022 के तहत निर्धारित किये गए उद्योगिक क्षेत्र, जिनको इस कार्यक्रम के तहत भारत सरकार द्वारा प्रफुल्लित करने के प्रयास किये गए है, इन उद्योगिक क्षेत्रों के नाम निम्नलिखित प्रकार है:-

ऑटो अवयव रसायन निर्माण रक्षा उत्पादन विद्युत मशीनरी
ऑटोमोबाइल इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम डिज़ाइन और निर्माण चमड़ा मीडिया एवं मनोरंजन खदान
विमानन खाद्य प्रसंस्करण तेल एवं गैस फार्मास्यूटिकल बंदरगाह
जैव प्रौद्योगिकी आईटी एवं बीपएम रेलवे सड़क एवं राजमार्ग नवीकरणीय ऊर्जा
अंतरिक्ष वस्त्र एवं परिधान थर्मल पावर पर्यटन एवं आतिथ्य कल्याण

 

मेक इन इंडिया नए कारोबार 2022 के लाभ | Make in India New Business 2022: Benefits

मेक इन इंडिया नए कारोबार 2022 के तहत लोगों को कई लाभ पहुंचाए जाएंगे, जिनकी जानकारी निम्नलिखित प्रकार है:-

डी लाइसेंस और डी रेगुलर

इस स्कीम के तहत नए व्यवसाय और कारोबार शुरू करने के लिए उद्योगपतियों, कारोबारियों और आम नागरिकों को डी लाइसेंस मुहैया करवाए जाएंगे, ताकि उन्हें नया कारोबार शुरू करने का लाइसेंस जल्दी प्राप्त हो जाए। इसके अलावा डी रेगुलर भी उद्योग स्थापित करने के लिए लोगों को उपलब्ध करवाया जाएगा। लाइसेंस और रेगुलर मुहैया करवाकर उद्योगपतियों को नए उद्योग स्थापित करने के लिए सहायता की जाएगी।

टैक्स

जो लोग नया कारोबार शुरू कर रहे हैं और जिनका कारोबार पारंपरिक उद्योगों से अलग है, उन लोगों को नया कारोबार / नया उद्योग शुरू करने के लिए भारत सरकार की तरफ से कम टैक्स लगाया जाएगा।

ईबिज पोर्टल

  • बिजनेसको सेटअप करने के लिए तथा हर प्रकार के उद्योगों से संबंधित जानकारी लोगों तक पहुंचाने के लिए ईबिज पोर्टल की शुरूआत की जाएगी।
  • एक ही पोर्टल परहर उद्योग से संबंधित जानकारी उद्योगपतियों और कारोबारियों को प्रदान की जाएगी।
  • एक ही प्लेटफार्म पर सारी जानकारी मिल जाने से लोगों की समस्याओं का हल भी मिल जाएगा और समय की बचत भी होगी।
  • इस पोर्टल परलगातार लोगों को 24 घंटे सेवाएं पहुंचाई जाएंगी, ताकि किसी भी समय उद्योगपति उद्योगों से संबंधित जानकारी तथा विशेषज्ञों से सलाह ले पाए; उन्हें किसी भी प्रकार की समस्या पेश ना आए; इसी उपलक्ष्य के लिए ईबिज पोर्टल को शुरू किया जाएगा।

आर्थिक सहायता

मेक इन इंडिया के तहत नए कारोबार शुरू करने के लिए लोगों को यदि आर्थिक सहायता की आवश्यकता पड़ेगी, तो उन्हें आर्थिक मदद भी प्रदान की जाएगी। नए उद्योग स्थापित करने के लिए लोन की सुविधा के साथ-साथ सब्सिडी की सुविधा भी प्रदान की जाएगी।

अंतरराष्ट्रीय कंपनियों का निवेश

इस स्तंभ के मद्देनजर भारत सरकार विदेशी कंपनियों को भारतीय उद्योगों पर निवेश करने के लिए आकर्षित करेगी। विदेशी कंपनियों के निवेश करने से भारतीय कंपनियों की आर्थिक स्थिति काफी मजबूत होगी।

विनिर्माण के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता

भारतीय उद्योगों के निर्माण तथा विनिर्माण क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए न केवल केंद्र सरकार बल्कि राज्य सरकारों भी प्रयास करेंगी ताकि हर एक राज्य में नए उद्योगों की स्थापना हो पाए और प्रोडक्टिविटी में बढ़ोतरी हो पाए।

रोजगार के अवसर

देश के अंदर नए कारोबार और उद्योगों के शुरू होने से नौजवानों को रोजगार के अवसर भी मिलेंगे, जिससे देश के अंदर गरीबी तथा बेरोजगारी का अंत होगा।

मेक इन इंडिया के इस स्तंभ “मेक इन इंडिया नए कारोबार 2022” से भारतीय उद्योगों को विश्व स्तर पर विकसित देशों के उद्योगों के सामने खड़ा करने के लिए भारत सरकार द्वारा बहुत सारे कदम उठाए गए हैं। इस स्तम्भ के अंतर्गत पूरा धयान नए कारोबार अथवा उद्योगों को शुरू करने पर केंद्रित किया गया है, जिसके भविष्य में बहुत ही अच्छे परिणाम मिलेंगे।

सरकारी योजना List 2022 प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2022

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here