कपड़ा क्षेत्र में क्षमता निर्माण योजना 2021 | Kapda Shetra Me Shamta Nirmann Yojana 2021

    0
    931
    Kapda Shetra Me Shamta Nirmann Yojana
    Kapda Shetra Me Shamta Nirmann Yojana

    कपड़ा क्षेत्र में क्षमता निर्माण योजना 2021 | Kapda Shetra Me Shamta Nirmann Yojana 2021

    कौशल विकास योजना को कपड़ा क्षेत्र में क्षमता निवास निर्माण योजना के तहत देश में जारी किया गया है। इस योजना को देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने संगठित क्षेत्र में कढ़ाई और बुनाई को छोड़कर कपड़ा क्षेत्र की समूची मूल्य श्रृंखला को शामिल करते हुए प्रस्ताव के लिए कैबिनेट में रखा था। इस योजना के तहत कढ़ाई और बुनाई को छोड़कर बाकी सारे कपड़ा क्षेत्र में विकास योजना के तहत रोजगार के अवसर प्रदान करने की योजना बनाई गई थी। इस योजना को साल 2017-18 से 2019-20 वर्ष तक की अवधि के लिए स्वीकार किया गया था।

    कपड़ा क्षेत्र में क्षमता निर्माण योजना के तहत नए रोजगार पैदा करने की कोशिश की जाएगी। इसके अतिरिक्त संबंधित उद्योगों के प्रयासों को प्रोत्साहित करने के लिए कौशल कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे। देश के हर वर्ग को आजीविका प्रदान करने के लिए कपड़ा क्षेत्र में क्षमता निर्माण योजना को हर प्रकार से क्रियाशील रखा जाएगा।

    कपड़ा क्षेत्र में क्षमता निर्माण योजना 2021 का इतिहास | Kapda Shetra Me Shamta Nirmann Yojana 2021: History

    • कपड़ा मंत्रालय ने 11वीं पंचवर्षीय योजना के अंतिम 2 वर्षों के दौरान पायलट योजना के रूप में इस योजना को शुरू किया था और इसके तहत ढाई लाख लोगों को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य भी तय किया था।
    • एकीकृत कौशल विकास योजना उद्योग संबंधी प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से कपड़ा उद्योग में कुशल श्रम शक्ति की बड़ी कमी को पूरा करने के लिए उस समय कईप्रयास सरकार द्वारा किए गए थे और उन प्रयासों में सरकार काफी हद तक कामयाब भी हुई थी, इसलिए इस योजना को आगे भी जारी रखने का कार्य किया गया।
    • इस योजना का क्रियान्वयन घटकों के माध्यम से किया गया है, जिसमें निजी सार्वजनिक भागीदारी प्रणाली पर विशेष बल दिया गया है ताकि लोगों को निजी तौर पर शुरू किए गए। कपड़ा निर्माण से संबंधित उद्योग के लिए प्रोत्साहित किया जा सके और उनके काम को बढ़ावा दिया जा सके।
    • इस योजना के तहत को प्रणाली को स्थापित करने के लिए भी कुछ नीतियां तैयार की गई थी।

    कपड़ा क्षेत्र में क्षमता निर्माण योजना 2021 का उद्देश्य | Kapda Shetra Me Shamta Nirmann Yojana 2021: Objectives

    इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश में कपड़ा निर्माण से संबंधित सभी उद्योगों में रोजगार के नए अवसर प्रदान कर के बेरोजगारों को काम प्रदान करना तथा उनकी देश के हर वर्ग से संबंधित लोगों की आजीविका में वृद्धि करना है। इसके अलावा कपड़ा निर्माण से संबंधित कई प्रकार के कौशल कार्यक्रम आयोजित कर के नौजवानों को कपड़ा निर्माण उद्योग से जोड़ना है।

    कपड़ा क्षेत्र में क्षमता निर्माण योजना 2021 का बजट | Kapda Shetra Me Shamta Nirmann Yojana 2021: Budget

    यह योजना कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय (Ministry of Skill Development and Entrepreneurship – NSQF) के द्वारा संचालित की जा रही है और इस योजना के लिए वर्ष 2017-18  से लेकर 2019-20 के लिए केंद्रीय सरकार द्वारा 1300 करोड़ रुपए का बजट जारी किया गया है। इस बजट के अंतर्गत पूरे देश के कपड़ा निर्माण से संबंधित उद्योगों को लाभ पहुंचाया जाएगा तथा उद्योगों में नौकरी के नए अवसर प्रदान किए जाएंगे।

    कपड़ा क्षेत्र में क्षमता निर्माण योजना 2021 के लाभ | Kapda Shetra Me Shamta Nirmann Yojana 2021: Benefits

    • इस योजना के तहत संगठित कपड़ा क्षेत्र और उससे संबंधित अन्य क्षेत्रों में रोजगार के नए साधन प्रदान किए जाएंगे।
    • संबंधित उद्योगों के प्रयासों को प्रोत्साहित करने के लिए उनकी मांग पर आधारित प्लेसमेंट संबंधित कौशल कार्यक्रम भी प्रोत्साहित किए जाएंगे तथा इन कौशल कार्यक्रमों के द्वारा नौजवानों को कपड़ा निर्माण से संबंधित प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
    • कपड़ा मंत्रालय से संबंधित संगठनों के माध्यम से कौशल विकास और कौशल को प्रोत्साहित कर के नौजवानों को इन उद्योगों की तरफ आकर्षित किया जाएगा।
    • जोहर वर्ग से संबंधित लोग भी जो इस योजना के तहत जुड़ेंगे, उनको आजीविका प्रदान करने के साथ-साथ उनकी आजीविका में वृद्धि करने का कार्य भी किया जाएगा।
    • घरेलू कपड़ा उद्योगों को प्रफुल्लित करने के लिए सरकार द्वारा प्रयास किए जाएंगे।
    • रोजगार समझौते के तहत कई प्रकार के समझौते कर के उद्योगों को राष्ट्रीय स्तर पर ऊंचा उठाने के यतन भी किए जाएंगे।
    • इसके अतिरिक्त कौशल निर्माण के प्रबंधन एवं प्रशिक्षण के लिएलोगों को उद्योगों में नियुक्त किया जाएगा।
    • इस योजना के तहत ग्रामीण, दूरदराज के इलाके और उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र, पूर्वोत्तर तथा जम्मू कश्मीर के इलाके को शामिल और उनके दर के लोगों को और वहां के लोगों को विशेष तौर पर लाभ पहुंचाने की कोशिश की जाएगी।
    • इस योजना के तहत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, दिव्यांगों, अल्पसंख्यकों और अन्य कमजोर वर्गों को रोजगार प्राप्ति के साधन मुहैया करवाए जाएंगे।
    • कपड़ा मंत्रालय के द्वारा क्रियान्वित कौशल विकास की तत्कालीन योजना के तहत 10 लाख से अधिक लोगों को प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। जिनमें से 70% से अधिक महिलाएं होंगी और उन महिलाओं को प्रशिक्षित करके उनको रोजगार के साधन उपलब्ध करवाए जाएंगे।
    • इस योजना के अंतर्गत परिधान उद्योग जिसके बारे में माना जाता है कि लगभग 70% महिलाओं को रोजगार मिल सकता है। इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए परिधान उद्योग में महिलाओं को विशेष तौर पर लाभ प्रदान करने के प्रयत्न केंद्रीय सरकार द्वारा किए जाएंगे।
    • इस योजना के जरिए कपड़ा क्षेत्र से संबंधित विभिन्नविभिन्न वर्गों में 10 लाख लोगों को कौशल विकास के तहत प्रशिक्षण प्रदान करके उन्हें प्रमाण पत्र भी दिए जाएंगे ताकि उन्हें वह बड़े-बड़े उद्योगों में नौकरी के अवसर प्राप्त कर पाए क्योंकि नौकरी के अवसर तभी होंगे, जब उनके पास परिधान उद्योग से संबंधित प्रमाण पत्र होंगे। इसलिए इस योजना में विशेष तौर पर प्रशिक्षण प्राप्त व्यक्तियों को प्रमाण पत्र जारी किए जाएंगे।

    इस योजना के तहत कौशल कार्यक्रम आयोजित करने के साथ-साथ योजना के लिए कुछ रणनीति भी बनाई गई है जिसकी जानकारी निम्नलिखित प्रकार है:-

     कौशल कार्यक्रम का क्रियान्वयन

    • कौशल कार्यक्रम का मतलब है उद्योग स्थापित करने तथा पुरस्कार प्राप्त करने के लिए रोजगार प्राप्त करने के लिए प्रशिक्षित करना और इस योजना के अंतर्गत कौशल कार्यक्रम शुरू किए गए हैं और इन कौशल कार्यक्रमों को शुरू करने का, संचालित करने का काम और यह कौशल कार्यक्रम कपड़ा मंत्रालय उद्योग द्वारा संचालित किए जाते हैं।
    • श्रम शक्ति की घरेलू जरूरतों को पूरा करने के लिए कपड़ा उद्योग तथा इकाई द्वारा संचालन किया जाता है।
    • इसके अतिरिक्त कपड़ा उद्योग इकाइयों के साथ रोजगार समझौते के तहत प्रशिक्षण संस्थान बनाए गए हैं, जहां पर स्थापित किए गए हैं। जहां पर इच्छुक विद्यार्थी प्रशिक्षण प्राप्त करके कपड़ा निर्माण उद्योग में नौकरी के अवसर प्राप्त कर सकते हैं।
    • कपड़ा मंत्रालय राज्य सरकारों के संस्थानों द्वारा क्रियान्वित किए संचालित किए जाएंगे और इन संस्थानों में प्रशिक्षण के साथ-साथ प्लेसमेंट की सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी।

     योजना को जारी करने के लिए बनाई गई रणनीति अपनाई गई रणनीति

    इस योजना को पूरे देश में लागू करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा एक रणनीति अपनाई गई, रणनीति का वर्णन निम्नलिखित प्रकार है:-

    • संबंधित कार्य को ध्यान में रखते हुए कौशल लक्ष्य की प्राप्ति के लिए विभिन्न स्तरों पर पाठ्यक्रम कौशल निरीक्षण, प्रबंधन प्रशिक्षण और प्रौद्योगिकी को अपनाने के लिए रणनीति अपनाई गई।
    • उद्योग के साथ सलाह करके समय-समय पर आवश्यकताओं का मूल्यांकन किया जाएगा और उस मूल्यांकन के आधार पर जो भी कपड़ा उद्योगों की आवश्यकता है, उसकी पूर्ति की जाएगी।
    • हर पक्ष के संचालन के लिए आधारित निगरानी भी की जाएगी अर्थात कार्य का संचालन किस प्रकार हो रहा है, इसका निरीक्षण करने के लिए वेब आधारित निगरानी की जाएगी।
    • हथकरघा, हस्तशिल्प, रेशम इत्यादि जैसे परंपरागत उद्योग की कौशल संबंधी जरूरतों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा और इसके लिए कई परियोजनाओं पर विचार भी किया जाएगा।
    • इसके अलावा मुद्रा ऋण के प्रावधानों के जरिए उद्यमशीलता के विकास के लिए कौशल विकास कार्यक्रम के तहत लोन की सुविधा भी प्रदान की जाएगी ताकि उद्योग स्थापित करने के इच्छुक लोग मुद्रा ऋण को प्राप्त करके अपने उद्योग स्थापित कर पाए और अपना व्यवसाय शुरू कर पाए।
    • नतीजों की पड़ताल के लिए सफल परशिक्षकों का मूल्यांकन किया जाएगा और मान्यता प्राप्त एजेंसी द्वारा प्रमाण पत्र भी प्रदान किए जाएंगे। प्रमाण पत्र यह सुनिश्चित करेंगे कि कपड़ा उद्योग के निर्माण में प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले व्यक्ति ने सकुशल प्रशिक्षण प्राप्त किया है।
    • प्रमाणित व्यक्तियों में से कम से कम 70% व्यक्तियों को दिहाड़ी रोजगार वर्ग में रखा जाएगा और उन्हें दिहाड़ी रोजगार के तहत काम प्रदान किए जाएंगे।
    • इस योजना के तहत कपड़ा निर्माण उद्योगों में रोजगार मिलने के पश्चात, उन पर अनिवार्य रूप से नजर भी रखी जाएगी।
    • इस क्षेत्र में प्रशिक्षण प्राप्त महिलाओं को रोजगार के लिए संस्थानों में कई प्रकार के प्लेसमेंट आयोजित किए जाएंगे, जहां पर महिलाएं रोजगार प्राप्ति के लिए आवेदन कर पाएंगे।
    • अभी तक इस योजना के तहत कई प्रशिक्षण संस्थान स्थापित किए जा चुके हैं और उन संस्थानों में कई व्यक्ति और महिलाएं प्रशिक्षण प्राप्त करके रोजगार भी प्राप्त कर चुके हैं। यदि आंकड़ों की बात करें तो इस योजना के तहत अभी तक 84 लाख लोग रोजगार प्राप्त कर चुके हैं और इनमें से 10.12 लाख लोगों को शॉर्टलिस्ट भी किया गया है, जिनमें से 8.05 लाख लोगों का प्लेसमेंट हो चुका है।

    इस योजना के तहत पूरे देश में कपड़ा उद्योग को प्रफुल्लित करने के लिए तथा बेरोजगार लोगों को कपड़ा निर्माण उद्योगों की तरफ आकर्षित करने के लिए कई प्रशिक्षण संस्थान स्थापित किए गए हैं, जिनका लाभ प्राप्त करके बेरोजगारी को खत्म करने के लिए प्रयत्न किए जा रहे हैं। यह एक अच्छी पहल है जो लोग भी कपड़ा निर्माण में नौकरी प्राप्त करने के इच्छुक हैं, उन्हें इस योजना के तहत स्थापित किए गए प्रशिक्षण केंद्रों से जरूर संपर्क करना चाहिए और वहां से प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद मिलने वाले प्रमाण पत्र को किसी भी अच्छे उद्योग में दिखाकर नौकरी प्राप्त करनी चाहिए।

    सरकारी योजना List 2021 प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2021

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here