Jharkhand Mukhyamantri Free LPG Gas Connection Yojana 2022 झारखंड मुख्यमंत्री मुफ्त एलपीजी गैस कनेक्शन व चूल्हा योजना | के लाभ

0
1164
Jharkhand Mukhyamantri Free LPG Gas Connection Yojana 2022
Jharkhand Mukhyamantri Free LPG Gas Connection Yojana 2022

झारखंड सरकार ने आंगनबाड़ी केंद्रों की मदद के लिए झारखंड मुख्यमंत्री मुफ्त एलपीजी गैस कनेक्शन व चूल्हा योजना की घोषणा की। इस योजना को शुरू करने का कारण यह था कि आंगनबाड़ी केंद्र जहां पर गैस कनेक्शन नहीं थे, वहां पर बच्चों को ठंडा खाना ही दिया जाता था। जिससे बच्चों का स्वास्थ्य भी बिगड़ता था और किसी प्रकार का भी पोषण प्राप्त नहीं होता था। इसी समस्या के निदान के लिए सरकार ने इस योजना को हरी झंडी दी।

इस योजना की घोषणा झारखंड के मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास जी द्वारा 31अक्टूबर,2019 “महिला बाल विकास” एवं “सामाजिक सुरक्षा विभाग” की समीक्षा बैठक में की गई। इस योजना के अंतर्गत राज्य के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों में मुफ्त एलपीजी गैस कनेक्शन देने का फैसला किया गया। 1 नवंबर, 2019 को झारखंड सरकार ने मुफ्त एलपीजी गैस कनेक्शन व चूल्हे राज्य के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों में बांटने शुरू कर दिए।

झारखंड मुख्यमंत्री मुफ्त एलपीजी गैस कनेक्शन व चूल्हा योजना 2022 के उद्देश्य (Jharkhand Mukhyamantri Free LPG Gas Connection Yojana 2022: Objectives)

इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के सभी आंगनबाड़ी केंद्र जहां पर गैस कनेक्शन नहीं है और उन्हें कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। उन आंगनबाड़ी केंद्रों में गैस कनेक्शन व चूल्हे प्रदान करना है। इसके साथ-साथ आंगनबाड़ी वर्करों की सेहत और बच्चों की सेहत का भी ध्यान रखना इस योजना का मकसद है।

झारखंड मुख्यमंत्री मुफ्त एलपीजी गैस कनेक्शन व चूल्हा योजना 2022 के लाभ (Jharkhand Mukhyamantri Free LPG Gas Connection Yojana 2022: Benefits)

  • इस योजना के अंतर्गतआंगनवाड़ी केंद्रों में फ्री गैस कनेक्शन व चूल्हे प्रदान किए जाएंगे।
  • झारखंड राज्य में 38,432 आंगनबाड़ी केंद्रों को लाभ पहुंचाने काफैसला लिया गया है अर्थात इन सभी आंगनबाड़ी केंद्रों में फ्री गैस कनेक्शन वितरित किए जाएंगे।
  • सरकारी आंकड़ों के अनुसार राज्य के बहुत सारे आंगनबाड़ी केंद्र हैं जहां पर बच्चों के लिए खाना लकड़ी जला कर बनाया जाता था। इसी समस्या के समाधान के लिए फ्री गैस कनेक्शन वितरित किए गए और आगे भी किए जाएंगे।
  • एक बारी खाना बनने के बाद जब ठंडा हो जाता था, तो उसे दोबारा गर्म करने में बहुत समस्याएं आती थी। इन समस्याओं के निदान के लिए इस योजना की शुरुआत कीगई। अब खाना ठंडा होने के बाद गर्म करना आसान रहेगा।
  • गैस कनेक्शन व चूल्हे ना होने की वजह से बच्चों को ठंडा खाना खाना पड़ता था, पर अब इस योजना केलागू होने के बाद उन्हें गर्म खाना मिलने लगेगा।
  • लकड़ी जलाकर खाना बनाने सेआंगनबाड़ी वर्कर भी बीमार हो जाते थे, अब उन वर्करों को काम करने में आसानी रहेगी।
  • इस योजना के अंतर्गतएक पूरी गैस कनेक्शन किट आंगनबाड़ी केंद्रों को उपलब्ध करवाई जाएगी।

किट में मिलने वाले सामान की सूची

  • दो एलपीजीसिलेंडर
  • एक गैसचूल्हा
  • रेगुलेटर
  • गैस पाइप
  • बुकलेट, जिसमेंदिशा निर्देश होंगे के इस किट को कैसे इस्तेमाल करना है।

योजना के लिए तैयार किया गया बजट

  • इस योजना के अंतर्गत राज्य के लगभग 38,432 आंगनबाड़ी केंद्रों को फ्री एलपीजी गैस कनेक्शन देने की सीमा तय की गई है।
  • हर आंगनबाड़ी केंद्र पर 63,000 रुपए का खर्च किया जाएगा।
  • इस योजना पर 24 करोड़ का खर्च राज्य सरकार द्वारा तय किया गया है।
  • इस योजना में राज्य के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों को लाभ पहुंचाने की कोशिश की गई है।

आंगनवाड़ी केंद्रों में पढ़ने वाले छोटे बच्चों तथा आंगनवाड़ी वर्करों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए, जो यह योजना राज्य सरकार द्वारा बनाई गई है एक बहुत ही अच्छी पहल है क्योंकि राज्य के दूरदराज के आंगनवाड़ी केंद्रों में फ्री एलपीजी गैस कनेक्शन, चूल्हे मुहैया करवाने से उन केंद्रों में बच्चों की गिनती में बढ़ावा होगा। आंगनवाड़ी वर्कर की सेहत के साथ-साथ बच्चों की सेहत भी बेहतर हो जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here