Jharkhand Dhan Adhiprapti Yojana 2022 धान अधिप्राप्ति योजना झारखंड 2022 पात्रता

0
1565
Jharkhand Dhan Adhiprapti Yojana 2022
Jharkhand Dhan Adhiprapti Yojana 2022

चावल के मामले में यदि देखा जाए तो चावल की सबसे ज्यादा खेती झारखंड में की जाती है क्योंकि वहां का मौसम जलवायु एवं मिट्टी धान की खेती के लिए सबसे ज्यादा बेहतर माने जाते हैं। इसी वजह से झारखंड में धान अधिप्राप्ति योजना की घोषणा राज्य सरकार द्वारा की गई थी। इस योजना से किसानों को बहुत ज्यादा फायदा प्राप्त होने वाला है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा निश्चित की गई धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य पर ही धान की बिक्री हो सकेगी। इस योजना की मदद से किसानों को उनकी मेहनत की सही कीमत मिलने में भी सहायता मिलेगी और साथ ही आर्थिक रूप से और मजबूत हो सकेंगे।

धान अधिप्राप्ति योजना झारखंड 2022 के मुख्य बिंदु (Jharkhand Dhan Adhiprapti Yojana 2022: Objectives)

  • खरीद केंद्र:- राज्य सरकारों ने सभी हिस्सों में खरीद के लिए योजना का प्रारंभ कर दिया है इसके लिए 293 केंद्रों को चुना गया है। यह कुछ ऐसे केंद्र है जहां पर किसान धान की बिक्री आसानी से कर सकते हैं और आने वाले दिनों में अधिक केंद्रों की लिस्ट भी इस लिस्ट में शामिल की जा सकती है।
  • धान की कीमत:- झारखंड सरकार प्रत्येक किसान से धान 1750 रुपए प्रति क्विंटल की कीमत पर खरीदेंगे और एक निर्धारित कीमत पर केंद्र सरकार को प्रदान करेंगे।
  • बोनस सुविधा:- इस योजना के साथ-साथ कृषि श्रमिकों को अतिरिक्त बोनस भी प्रदान किया जाएगा।
  • मुख्य तारीख:- धान अधिप्राप्ति योजना के अंतर्गत धान की खरीद 1 दिसंबर 2018 से प्रारंभ कर दी गई है जिसे 31 मार्च 2019 तक चलाया गया इस बीच सभी किसानों ने इन केंद्रों पर जाकर अपने धान को बेचकर उचित रकम कमाई।
  • नोडल एजेंसी:- इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार ने खाद्य निगम नोडल एजेंसी तैयार की है जिसका मुख्य केंद्र पालमु क्षेत्र को चुना गया है। इसके साथ-साथ उत्तर और दक्षिण छोटानागपुर क्षेत्र और संथाल परगना और कोल्हान क्षेत्र के लिए राज्य खाद्य और नागरिक आपूर्ति निगम नोडल एजेंसी के रूप में भी यही नोडल एजेंसी काम करेगी।

प्रत्येक धान खरीद केंद्र में एक सरकारी अधिकारी और 180 अधिकारी और साथ में एक ऑपरेटर भी बैठाया जाएगा जो सभी किसानों की धान की खरीद करेंगे और उसकी पूरी जानकारी लिखित में अपने पास रखेंगे। सभी जानकारी को एकत्रित करके सरकार के पास पहुंचाया जाएगा।

धान अधिप्राप्ति योजना झारखंड 2022 पात्रता (Jharkhand Dhan Adhiprapti Yojana 2022: Eligibility)

  • झारखंड के किसान:– केंद्र सरकार ने केवल झारखंड के किसानों को ही इस योजना का लाभ प्रदान करने के लिए इस योजना को जारी किया है इसलिए किसी और राज्य का किसान इस योजना में आवेदन नहीं भर सकता है।
  • पंजीकृत किसान:– जो किसान धान की खेती करते हैं मुख्य रूप से उन्हीं किसानों को इस योजना का लाभ प्राप्त हो पाएगा और केवल इस योजना के अंतर्गत उन्हीं किसानों से सरकार द्वारा धान खरीदा जाएगा।
  • पर्सनल आईडी:– इस योजना में आवेदन हेतु किसानों के पास अपनी निजी आईडी जैसे आधार कार्ड, वोटर कार्ड दिखाना होगा।
  • बैंक की जानकारी:– जो किसान झारखंड राज्य में रहते हैं और खेती से जुड़े हुए हैं सरकार द्वारा प्रत्येक लेन-देन का काम उनके बैंक से किया जाएगा इसलिए अपने बैंक की जानकारी योजना के आवेदन के समय जमा करानी अनिवार्य है।

धान अधिप्राप्ति योजना झारखंड 2022 आवेदन प्रक्रिया (Jharkhand Dhan Adhiprapti Yojana 2022: Registration Process)

  • राज्य सरकार द्वारा झारखंड में यह घोषणा की गई है कि इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किसी प्रकार के आवेदन की आवश्यकता नहीं है।
  • जो किसान इस योजना के बारे में जानना चाहते हैं और इस योजना से जुड़ना चाहते हैं उन्हें s.m.s. के माध्यम से सभी जानकारी प्रदान की जाएगी।
  • एसएमएस मिलते ही उन्हें निकटतम धान खरीद केंद्र में जाना होगा और वहां मौजूद अधिकारियों से संपर्क करना होगा।
  • वहां बैठे अधिकारी प्रत्येक किसान को एक अलग अलग टोकन नंबर और तारीख बताएंगे और उसी निर्धारित तारीख पर टोकन लेकर किसानों को केंद्र पर पहुंचना होगा।
  • केंद्र पर बैठे अधिकारी धान का पूरा निरीक्षण करेंगे और साथ ही बिक्री विवरणों को दर्ज करेंगे।
  • जैसे ही धान की खरीद पूरी हो जाएगी और सारी औपचारिकताएं खत्म होने के बाद धान की कीमत किसानों के बैंक खाते में सरकार द्वारा ट्रांसफर कर दी जाएगी और फसल बेचने के 15 दिन के अंदर किसानों को धान की कीमत प्राप्त हो जाएगी।

इस योजना को कार्यान्वित करने के लिए झारखंड राज्य सरकार द्वारा 200 करोड़ रुपए का बजट घोषित किया गया है ताकि किसानों को इस योजना के तहत आर्थिक सहायता प्राप्त हो सके और उनकी स्थिति में सुधार हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here