Himachal Pradesh Swaran Jayanti Gyanodaya Cluster Sreshtha Vidyalay 2022 हिमाचल प्रदेश स्वर्ण जयंती ज्ञानोदय क्लस्टर श्रेष्ठ विद्यालय योजना 2022 | आवेदन प्रक्रिया

0
1346
HP Swaran Jayanti Gyanodaya Cluster Sreshtha Vidyalay 2022
HP Swaran Jayanti Gyanodaya Cluster Sreshtha Vidyalay 2022

हिमाचल प्रदेश सरकार ने हिमाचल प्रदेश के स्कूलों एवं विद्यालयों की गुणवत्ता को बढ़ाने तथा वहां पर कई तरह के बदलाव लाकर छात्र शिक्षा को सही अनुपात में सुनिश्चित करने हेतु स्वर्ण जयंती ज्ञानोदय क्लस्टर श्रेष्ठ विद्यालय योजना नामक एक योजना की शुरुआत की। इस योजना की घोषणा मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी द्वारा 2022-22 के बजट समीक्षा बैठक में की गई।

हिमाचल प्रदेश स्वर्ण जयंती ज्ञानोदय क्लस्टर श्रेष्ठ विद्यालय योजना 2022 का उद्देश्य (Himachal Pradesh Swaran Jayanti Gyanodaya Cluster Sreshtha Vidyalay 2022: Objectives)

इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के विद्यालयों में समय के अनुसार बदलाव लाकर शिक्षा में सुधार लाना है। विद्यार्थियों को खासकर प्री-प्राइमरी और प्राइमरी स्तर के सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों को शिक्षा हासिल करने के लिए प्रोत्साहित करना है। इस योजना के अंतर्गत विद्यार्थियों को विभिन्न प्रकार की प्रवेश परीक्षाओं के लिए तैयार किया जाएगा।

इस योजना के अनुसार लगभग प्रदेश के 100 विद्यालयों में गुणात्मक तब्दीलियां की जाएंगी। प्रदेश के 12 महाविद्यालयों में उच्च स्तर के व्यवसायिक पाठ्यक्रम आरंभ किए जाएंगे, जिन पाठ्यक्रम का अध्ययन करके विद्यार्थी अपने व्यवसाय खोलने योग्य बन पाएंगे। हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के ऊपर 15  करोड़ का बजट रखा गया है अर्थात; विद्यालयों में तब्दीलियां एवं पाठ्यक्रम आरंभ जैसी योजना को शुरू करने के लिए सरकार द्वारा ₹150000000 खर्च किए जाएंगे।

हिमाचल प्रदेश स्वर्ण जयंती ज्ञानोदय क्लस्टर श्रेष्ठ विद्यालय योजना 2022 के लाभ (Himachal Pradesh Swaran Jayanti Gyanodaya Cluster Sreshtha Vidyalay 2022: Benefits)

  • विद्यार्थियों को उचित मौके प्रदान किए जाएंगे, उन्हें व्यवसायिक पाठ्यक्रम में दाखिला लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • व्यवसायिक पाठ्यक्रम शुरू करने का मकसद यह है कि उच्च स्तर पर इन पाठ्यक्रमों का अध्ययन करके विद्यार्थी अपने तौर पर अपना व्यवसाय/ रोजगार शुरू कर पाएंगे।
  • इस स्कीम के अंतर्गत 10वीं परीक्षा में प्रथम आए100 विद्यार्थी विभिन्न प्रकार के प्रवेश परीक्षाओं के लिए प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु सरकार द्वारा नामांकन किए जाएंगे।
  • इन 100 विद्यार्थियों के प्रशिक्षण पर सरकार द्वारा वित्तीय सहायता भी प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत दसवीं कक्षा में प्रथम आए 100 विद्यार्थियों को वित्तीय सहायता के तौर पर ₹100000 कीराशि उपलब्ध करवाई जाएगी, जिसका इस्तेमाल वह अपनी शिक्षा में कर सकते हैं।
  • राज्य के 12 कॉलेजों में नए जमाने के तकनीकी व्यवसायिक पाठ्यक्रम उपलब्धकरवाए जाएंगे।
  • हिमाचल प्रदेश के 6 महाविद्यालयों में व्यवसायिक पाठ्यक्रम आरंभ किए जाएंगे, जिनमें विद्यार्थी दाखिला ले सकते हैं और अपनाभविष्य संवार सकते हैं।
  • विभिन्न प्रकार की प्रवेश परीक्षाओं के लिए जो वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी, वह सहायता विद्यार्थियों के कोचिंग लेने के लिए अनुदान के रूप में दी जाएगी।
  • यहयोजना उन विद्यार्थियों के लिए वरदान साबित होगी, जो दसवीं के बाद प्रवेश परीक्षाएं पास करके उच्च स्तर पर डिग्री हासिल करना चाहते हैं।

हिमाचल प्रदेश स्वर्ण जयंती ज्ञानोदय क्लस्टर श्रेष्ठ विद्यालय योजना 2022 आवेदन के लिए योग्यता (Himachal Pradesh Swaran Jayanti Gyanodaya Cluster Sreshtha Vidyalay 2022: Eligibility for Registration)

  • प्राइमरी एवं प्री-प्राइमरीस्कूलों तथा विद्यालयों में किसी प्रकार का आवेदन नहीं उपलब्ध करवाया है, यह योजना विद्यालयों में हर एक विद्यार्थी के लिए है।
  • राज्य के हर एक विद्यार्थी जो दसवीं में प्रथमआए हैं, इस योजना के तहत लाभ लेने योग्य हैं।

हिमाचल प्रदेश स्वर्ण जयंती ज्ञानोदय क्लस्टर श्रेष्ठ विद्यालय योजना 2022 सरकार द्वारा जारी की गई किए गए दिशा निर्देश (Himachal Pradesh Swaran Jayanti Gyanodaya Cluster Sreshtha Vidyalay 2022: Guidelines)

  • यह योजना केवल राज्य के विद्यार्थियों के लिए है, अन्य राज्य के विद्यार्थी इस योजना के तहत लाभ नहीं उठा सकते।
  • यह योजना केवल विद्यार्थियों के लिएही है, राज्य के नागरिक भी इस योजना का हिस्सा नहीं है।
  • विद्यार्थी के माता पिता हिमाचल प्रदेश के मूल निवासी होना अनिवार्य है।

हिमाचल प्रदेश स्वर्ण जयंती ज्ञानोदय क्लस्टर श्रेष्ठ विद्यालय योजना 2022 आवेदन प्रक्रिया (Himachal Pradesh Swaran Jayanti Gyanodaya Cluster Sreshtha Vidyalay 2022: Registration Process)

अभी इस योजना को केवल बैठक में विचार हेतु ही दिया गया है। इस योजना पर कोई भी आवेदन प्रक्रिया अभी तक लांच नहीं की गई की गई है क्योंकि अभी इस योजना विचार चल रहा है।

अगर इस योजना को राज्य के विद्यालयों में लागू कर दिया जाए, तो कई विद्यार्थी जो दसवीं के बाद स्कूल छोड़ देते हैं। उन विद्यार्थियों को एक नया रास्ता दिखाई देगा। उन बच्चों को यह प्रोत्साहन मिलेगा कि दसवीं के बाद उच्च तकनीकी शिक्षा हासिल करके वह अपना रोजगार शुरू करने लायक बन सकते हैं।  इससे उनका भविष्य निर्माण होगा तथा विद्यार्थी सही दिशा में आगे बढ़ेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here