गोबर धन योजना 2021 | GOBAR Dhan Yojana 2021

0
786
GOBAR Dhan Yojana
GOBAR Dhan Yojana

गोबर धन योजना 2021 | GOBAR Dhan Yojana 2021

केंद्र सरकार ने बजट 2018-19 के दौरान गोबर धन योजना Galvanizing organic bio Agro resources dhan-GOBAR DHAN योजना की घोषणा की गई है। गोबर धन योजना को सुचारू रूप से संचालित करने के लिए ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म विकसित करने की करने का प्रस्ताव रखा गया अर्थात किसानों को गोबर धन योजना के तहत ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म की शुरुआत करने का प्रस्ताव रखा गया ताकि किसान डायरेक्ट खरीदारों के संपर्क में आ सके।

गोबर धन योजना योजना के तहत गांव को स्वच्छ बनाने एवं पशु के गोबर और अन्य प्रकार के जैविक अपशिष्ट से किसानों की आय में वृद्धि करने के लिए गोबर और अन्य जैविक अपशिष्ट से उर्जा उत्पन्न की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत पशुओं के गोबर और खेतों के ठोस पदार्थों से बायोगैस तथा अन्य ऊर्जा स्रोत में परिवर्तित किया जाएगा।

वर्ष 2012 में किए गए सर्वेक्षण के अनुसार भारत में मवेशियों की जनसंख्या 30 करोड़ है, जिससे देश में प्रतिदिन 30 लाख टन गोबर प्राप्त होता है यदि इस गोबर का इस्तेमाल करके जो जैविक ऊर्जा उत्पादन / जैविक ऊर्जा स्रोत तैयार किए जाएं, तो इससे किसानों तथा देश को बहुत फायदा होगा।

गोबर धन योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में गोबर से बायोगैस प्लांट व्यक्तिगत, समुदाय, सेल्फ हेल्प ग्रुप, गौशाला, एनजीओ स्तर पर स्थापित किए जाएंगे। जहां पर पूरे गांव के पशुओं का गोबर तथा रसोई के अपशिष्ट, खेत के अपशिष्ट एकत्रित करके बायोगैस प्लांट पर इनसे जैविक खाद, जैव ईंधन के रूप में परिवर्तित किया जाएगा।

गोबर धन योजना 2021 का उद्देश्य | GOBAR Dhan Yojana 2021: Objectives

किसानों की आमदनी में वृद्धि करके उन्हें फसल के साथ-साथ उनके द्वारा पाले जाते पशु, डेयरी फार्म के पशुओं के गोबर तथा खेतों के अन्य अपशिष्ट, अन्य ठोस पदार्थों का संग्रह करके उन से उर्जा उत्पन्न करके किसानों की आमदनी में वृद्धि करना तथा जैविक खाद तैयार करके किसानों की भलाई करना गोबर धन योजना का मुख्य उद्देश्य है।

गोबर धन योजना 2021 के लाभ | GOBAR Dhan Yojana 2021: Benefits

  • गोबर धन योजना का सबसे बड़ा लाभ यही होगा कि खेतों में मौजूद पदार्थों का संग्रह करके उनसे कंपोस्ट, बायोगैस, बायो सीएनजी जैसे उर्जा के स्त्रोत तैयार किए जाएंगे।
  • पशुओं के गोबर का इस्तेमाल भी उर्जा उत्पन्न करने / ऊर्जा स्त्रोत तैयार करने के लिए किया जाएगा।
  • खेतों के ठोस पदार्थ तथा पशुओं के गोबर को बेचने से किसानों की आमदनी में भी वृद्धि होगी।
  • इसके अतिरिक्त गांव की स्वच्छता पर भी अच्छा प्रभाव पड़ेगा।
  • उद्यमियों को जैविक खाद, बायोगैस, CNG उत्पादन के लिए गांव के क्लस्टर बनाकर पशुओं का गोबर और दोस्तों के एकत्रीकरण और संग्रहण को बढ़ावा मिलेगा; जिससे किसानों को दुगना फायदा होगा।
  • ना केवल किसानों को बल्कि डेयरी फार्मिंग करने वाले उद्योगपतियों को भी इस योजना के तहत लाभ पहुंचेगा।
  • इस योजना के तहत प्रत्येक जिले में एक क्लस्टर का निर्माण किया जाएगा, जहां पर जैविक अपशिष्ट तथा गोबर का संग्रह किया जाएगा और फिर उसे बायोगैस, जैविक खाद, CNG उत्पादन में परिवर्तित किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत ऊर्जा मूल्य श्रृंखला के सभी श्रेणियों में छोटे और बड़े पैमाने पर परिचालकों को शामिल करके उन्हें व्यवसाय प्रदान किए जाएंगे।
  • गोबर धन योजना के तहत उन लोगों को काम मिलेगा, जो लोग इस योजना में रुचि दिखाते हैं।
  • जैविक ऊर्जा उत्पादन से रसायनिक ऊर्जा उत्पादकों को बदला जाएगा, जिससे देश में रसायनिक की बजाय लोग जैविक ऊर्जा उत्पादक इस्तेमाल करने लग जाएंगे।
  • गोबर तथा फसलों के जैविक अवशेष से ऊर्जा उत्पादक बनाने से किसी भी प्रकार का प्रदूषण नहीं होगा, पर्यावरण ही स्वस्थ रहेगा क्योंकि रसायनिक तरीके से जब ऊर्जा उत्पादक तैयार किए जाते हैं, तो बहुत ज्यादा प्रदूषण होता है जिसके कारण पर्यावरण भी अस्त व्यस्त हो जाता है।
  • जैविक ऊर्जा प्रोडक्ट उपयोग होने से राष्ट्रीय स्तर पर 15 लाख रोजगारों की शुरुआत होगी, जिस से बेरोजगारों को फायदा होगा, उन्हें व्यवसाय के अवसर प्रदान होंगे।
  • मवेशियों का गोबर, रसोई अपशिष्ट, फसलों के अपशिष्ट अथवा कृषि संबंधी कचर का इस्तेमाल करके बायोगैस जैसे ऊर्जा स्त्रोत बनाए जाएंगे और किसानों की आमदनी में वृद्धि की जाएगी।
  • स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण को भी इस योजना के तहत प्रोत्साहन मिलेगा।
  • इस योजना से ना केवल देश के किसानों को बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश को भी सफलता मिलेगी क्योंकि रसायनिक जैविक उत्पादन में, रसायनिक खादों के उत्पादन तथा रासायनिक ऊर्जा स्त्रोत के इस्तेमाल में बहुत ज्यादा खर्चा आता है जबकि अपशिष्ट गोबर तथा अपशिष्ट को एकत्रित करके स्त्रोत बनाने में रासायनिक ऊर्जा स्रोत के मुकाबले कम खर्च आता है।
  • देश की आर्थिक व्यवस्था पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।
  • गोबर धन योजना के लागू होने से देश के किसान आर्थिक तौर पर आत्मनिर्भर बन पाएंगे।
  • इस योजना के तहत विशेष रूप से ग्रामीण इलाकों में रहने वाली महिलाओं को लाभ पहुंचाया जाएगा।
  • इस योजना के तहत किसान खुद खाद तैयार करके बाजार में बेच कर कमाई कर सकेंगे।

गोबर धन योजना 2021 के लिए पात्रता | GOBAR Dhan Yojana 2021: Eligibility

  • गोबर धन योजना के तहत किसान, डेयरी फार्मिंग से संबंधित उद्योगपति या बायोगैस प्लांट लगाने के इच्छुक आवेदक आवेदन कर सकते हैं।
  • केवल देश के ग्रामीण क्षेत्रों से संबंधित नागरिकों को ही गोबर धन योजना के लिए आवेदन करने की अनुमति है।
  • शहरी क्षेत्र से संबंधित नागरिक इस योजना के तहत आवेदन नहीं कर सकते।
  • हर श्रेणी / हर वर्ग से संबंध रखने वाले किसान इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए मान्य है।

गोबर धन योजना 2021 आवश्यक दस्तावेज | GOBAR Dhan Yojana 2021: Required Documents

  • ग्रामीण क्षेत्र से संबंधित दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • कृषि से संबंधित दस्तावेज
  • मूलनिवासी पहचान पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी
  • पासपोर्ट साइज फोटो

गोबर धन योजना 2021 आवेदन प्रक्रिया | GOBAR Dhan Yojana 2021: Registration Process

इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध करवाई गई है, आवेदन करने के लिए आवेदक को निम्नलिखित कदम उठाने होंगे:-

GOBAR Dhan Yojana Registration 2021
GOBAR Dhan Yojana Registration 2021
  • आवेदन करने के इच्छुक लाभार्थी को गोबर धन योजना के तहत उपलब्ध करवाई गई आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके पश्चात होम पेजखुल जाएगा।
  • होम पेज पर रजिस्ट्रेशन फॉर्म का विकल्प दिखाई देगा, इस विकल्प को क्लिक करना होगा।
  • इस विकल्प को क्लिक करने के बाद एक नया पेज खुल जाएगा।
  • इस नए पेज पर एप्लीकेशन फॉर्म दिखाई देगा, इस एप्लीकेशन फॉर्म की जानकारी जैसे कि आवेदक का नाम, एड्रेस डिटेल, मोबाइल नंबर आदि भरने होंगे।
  • सारी जानकारी भरने के पश्चात सबमिट बटन दिखाई देगा, इस बटन को क्लिक करना होगा।
  • जैसे भी सबमिट बटन को क्लिक किया जाएगा, एप्लीकेशन फॉर्म जमा हो जाएगा।
  • इस प्रकार रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
  • रजिस्ट्रेशन करते वक्त एक रजिस्ट्रेशन संख्या प्राप्त होगी।
  • रजिस्ट्रेशन संख्या का इस्तेमाल भविष्य में होगा, इसलिए रजिस्ट्रेशन संख्या को संभाल के रखना होगा।

लॉगइन प्रक्रिया

  • लॉग इन करने के लिए आवेदक को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके पश्चात पर होम पेज पर लॉग इन का लिंक दिखाई देगा।
  • इस लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • लिंक पर क्लिक करने के बाद एक नया पेज खुल जाएगा, जिसमें लॉगइन फॉर्म दिखाई देगा।
  • इस लॉगइन फॉर्म में यूजर नेम, पासवर्ड औरकैप्चा कोड एंटर करने के बाद लॉगइन के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार लॉगइन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

आवेदन की स्थिति

आवेदन की स्थिति जानने के लिए आवेदक को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • इसके पश्चात पर होम पेज पर लॉग इन पर क्लिक करके लॉग इन करना होगा।
  • लॉग इन करने के बाद अपने आवेदन की स्थिति देख सकता है और यह जान सकता है कि उसके द्वारा सबमिट किए गए आवेदन को अप्रूवल मिला है या नहीं।

यह GOBAR-DHAN योजना गांवों को साफ रखने पर ध्यान देने के साथ-साथ ग्रामीण घरों की आय में वृद्धि और मवेशियों के कचरे से ऊर्जा उत्पादन के लिए एक महत्वपूर्ण रणनीति है। GOBAR-DHAN योजना को ग्रामीण भारत के किसानों की आय के स्रोत के रूप में भी देखा जा रहा है। सभी किसानों को इस योजना के साथ जुड़कर अपनी आमदनी तथा देश की अर्थव्यवस्था में अवश्य योगदान देना चाहिए।

सरकारी योजना List 2021 प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2021

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here