एजुकेशन लोन 2021 | शिक्षा पर ऋण 2021 | Education Loan 2021 | Education Loan Interest Rate 2021

    1
    1306
    Education Loan 2021
    Education Loan 2021

    एजुकेशन लोन 2021 | शिक्षा पर ऋण 2021 | Education Loan 2021

    शिक्षा ग्रहण करना हर एक विद्यार्थी के लिए बहुत आवश्यक होता है क्योंकि शिक्षा ही एकमात्र ऐसा साधन है, जो विद्यार्थियों के लिए उनके भविष्य को रोशन करने में मददगार साबित होता है। आज के दौर में बिना शिक्षा के कोई भी सफल नहीं हो सकता। ऐसे में शिक्षा के लिए बहुत सारी पद्धतियां, बहुत से संस्थान, यूनिवर्सिटी यहां तक कि विदेश में शिक्षा हासिल करने के लिए भी विद्यार्थियों को अवसर प्रदान किए जाते हैं।

    जो विद्यार्थी उच्च वर्ग से संबंधित है, वह तो बड़ी आसानी से महंगे शिक्षा संस्थानों तथा विदेशी संस्थानों से शिक्षा हासिल कर लेते हैं परंतु मध्यमवर्ग एवं निबंध वर्ग से संबंधित विद्यार्थियों को बहुत संघर्ष करना पड़ता है; डिग्री प्राप्त करना हो या फिर उच्च स्तर पर शिक्षा हासिल करना हो, इस सबके लिए उन विद्यार्थियों को परेशानी झेलनी पड़ती है। जो मध्यमवर्ग एवं निबंध वर्ग से संबंधित विद्यार्थिय आर्थिक तौर पर बहुत कमजोर हो, वह एजुकेशन लोन के लिए बैंक से संपर्क कर सकते हैं।

    ऐसे में सरकार ने एजुकेशन लोन की शुरुआत की है। एजुकेशन लोन का मतलब है कि शिक्षा हासिल करने के लिए विद्यार्थियों को सरकार द्वारा ऋण प्रदान किया जाता है। भारत में स्थित यूनिवर्सिटी, शिक्षा संस्थानों में या फिर विदेशी संस्थानों में शिक्षा हासिल करने के लिए सरकार विद्यार्थियों की सहायता करती है। एजुकेशन लोन प्रदान कर के विद्यार्थियों को सरकार द्वारा सहायता प्रदान की जाती है।

    एजुकेशन लोन उन परिस्थितियों में बहुत मददगार साबित होता है, जहां पर ग्रेजुएशन या विदेश यूनिवर्सिटी में शिक्षा हासिल होने से न केवल विद्यार्थियों बल्कि उनके माता-पिता को भी बहुत फायदा होता है, उनकी बच्चों की शिक्षा को लेकर चिंता खत्म हो जाती है, जो पैरंट्स अपने बच्चों की पढ़ाई का खर्च नहीं उठा पा रहे हैं, वे अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए एजुकेशन लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

    एजुकेशन लोन 2021 का उद्देश्य | Education Loan 2021 : Objectives

    जो विद्यार्थी उच्च स्तर पर शिक्षा हासिल करना चाहते हैं परंतु आर्थिक तंगी की वजह से वे  और उनके माता-पिता अपनी शिक्षा का खर्च नहीं उठा पाते। उन विद्यार्थियों को एजुकेशन लोन के माध्यम से आर्थिक तौर पर सहायता की जाती है। बहुत ही कम ब्याज पर उन्हें एजुकेशन लोन उपलब्ध करवाया जाता है। एजुकेशन लोन का उद्देश्य यही है कि विद्यार्थियों को शिक्षा हासिल करने में किसी प्रकार की आर्थिक रुकावट पेश ना आए।

    एजुकेशन लोन मिल तो बहुत ही आसानी से जाता है परंतु इसके साथ साथ विद्यार्थियों की जिम्मेदारी भी बढ़ जाती है क्योंकि एजुकेशन लोन सिर्फ शिक्षा हासिल करने के लिए ही दिया जाता है। जो विद्यार्थी शिक्षा के नाम पर एजुकेशन लोन तो हासिल कर लेते हैं परंतु उसका इस्तेमाल किसी और जगह करते हैं, उन विद्यार्थियों को इसके काफी बुरे परिणाम भी भुगतने पड़ते हैं। इसलिए यह बहुत ही आवश्यक है एजुकेशन लोन का सही जगह पर इस्तेमाल करें।

    एजुकेशन लोन में अन्य खर्च

    एजुकेशन लोन में विद्यार्थियों के पढ़ाई के खर्च, विद्यार्थियों की ट्यूशन फीस, हॉस्टल में रहने वाले विद्यार्थियों की हॉस्टल फीस, डेली अप डाउन करने वाले विद्यार्थियों के लिए आने-जाने का खर्च आदि शामिल होता है।

    एजुकेशन लोन 2021 के प्रकार  | Education Loan 2021 : Types

    एजुकेशन लोन के प्रकार परिभाषा
    अंडरग्रैजुएट एजुकेशन लोन हायर सेकंडरी एजुकेशन (higher secondary education) पूरा करने के बाद ग्रैजुएशन (graduation) करने के इच्छुक स्टूडेंट्स इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं, अंडरग्रैजुएट एजुकेशन लोन प्राप्त करने के लिए विद्यार्थी बैंक से संपर्क कर सकते हैं।
    करियर एजुकेशन लोन एजुकेशन लोन स्टूडेंट्स को करियर (Career) ओरिएंटेड एजुकेशन प्रोग्राम के लिए मिलते हैं, यानि ग्रेजुएशन के बाद इस लोन के लिए अप्लाई किया जा सकता है।
    ग्रैजुएट एजुकेशन लोन ग्रेजुएशन के बाद हायर एजुकेशन के लिए स्टूडेंट्स इस लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
    पैरंट्स के लिए लोन जो पैरंट्स अपने बच्चों की पढ़ाई का खर्च नहीं उठा पा रहे हैं, वे अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए एजुकेशन लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

     

    एजुकेशन लोन 2021 के फायदे  | Education Loan 2021 : Benefits

    • कोई भी छात्र जो उच्च शिक्षा हासिल करना चाहता है और उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए महंगे संस्थानों, यूनिवर्सिटीओं में अप्लाई करना चाहता है, एजुकेशन लोन के लिए आवेदन कर सकता है।
    • एजुकेशन लोन पिछड़े वर्ग से संबंधित, आर्थिक तंगी से जूझ रहे विद्यार्थियों के लिए बहुत फायदेमंद साबित होता है।
    • एजुकेशन लोन कई प्रकार के होते हैं और कई एजुकेशन लोन ऐसे भी होते हैं, जिसे लेने पर विद्यार्थियों को सब्सिडी भी प्रदान की जाती है। सब्सिडी पर ब्याज मिलने से विद्यार्थियों को और भी ज्यादा फायदा होता है।
    • ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन, डिप्लोमा, वोकेशनल किसी भी प्रकार के कोर्स के लिए बैंक से संपर्क करके एजुकेशन लोन प्राप्त किया जा सकता है।
    • यदि विद्यार्थी विदेशी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करना चाहते हैं, उन विद्यार्थियों को भी एजुकेशन लोन बड़ी आसानी से प्राप्त हो जाता है और वह उच्च शिक्षा के लिए विदेशी संस्थानों पढ़ाई कर पाते हैं।
    • एजुकेशन लोन भारत के हरेक राज्य में उपलब्ध है,किसी भी राज्य से संबंधित छात्रों एजुकेशन लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
    • ₹2 लाख से लेकर ₹22 लाख तक काएजुकेशन लोन विद्यार्थियों को उपलब्ध करवाया जाता है, पढ़ाई पर आने वाले खर्चे के हिसाब से विद्यार्थी एजुकेशन लोन प्राप्त कर सकते हैं।
    • लोन की रकम इस बात पर निर्भर करती है कि विद्यार्थी किस प्रकार कोर्स में एडमिशन ले रहे हैं।
    • उच्च शिक्षा के दौरान एजुकेशन लोन प्राप्त हो जाने से शिक्षा पूरी करने में विद्यार्थियों को आसानी हो जाती है।
    • जब तक विद्यार्थियों की शिक्षा पूरी नहीं हो जाती, तब तक एजुकेशन लोन की मदद मिलती रहती है।
    • एजुकेशन लोन की मदद से विद्यार्थी कॉलेज या यूनिवर्सिटी, बिल्डिंग डिपाजिट, ट्यूशन फीस, परीक्षा की फीस, हॉस्टल फीस, किताबें / ड्रेस / उपकरण खरीदने तथा यात्रा आदि पर होने वाले खर्चे; यह सारे ऐसे करते हैं जो एजुकेशन लोन की मदद से पूरे किए जा सकते हैं।
    • एजुकेशन लोन फुल टाइम, पार्ट टाइम किसी भी प्रकार के कोर्स के लिए लिया जा सकता है।
    • यदि कोई छात्रा एजुकेशन लोन के लिए अप्लाई करती है, तो उस छात्रा को बहुत कम ब्याज पर लोन प्राप्त हो जाता है।
    • सरकार द्वारा समय-समय पर कई कई प्रकार के एजुकेशन लोन उपलब्ध करवाए जाते हैं, जिससे विद्यार्थियों को काफी फायदा पहुंचता है।
    • एजुकेशन लोन लेने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि पढ़ाई पूरी करने के बाद जॉब करते हुए वह आसानी से एजुकेशन लोन का भुगतान कर सकते हैं।
    • लोन का भुगतान करने के लिए विद्यार्थियों को 5 से 7 साल का समय दिया जाता है, इतना समय मिलने से विद्यार्थियों को एजुकेशन लोन चुकाना काफी आसान हो जाता है।
    • एक निश्चित समय के लिए एजुकेशन लोन पर इनकम टैक्स पर भी ब्याज पर भी छूट मिल जाती है।

    एजुकेशन लोन 2021 लेते समय ध्यान रखने वाली बातें  | Education Loan 2021 : Guidelines

    • जितनी आवश्यकता हो उतना ही लोन लेना चाहिए क्योंकि जितना ज्यादा एजुकेशन लोन लिया जाएगा उतना ही ज्यादा ब्याज भी लौटआना पड़ता है, इसलिए यह आवश्यक है कि छात्र अपनी जरूरत के हिसाब से ही एजुकेशन लोन ले।
    • शिक्षा ऋण का इस्तेमाल केवल शिक्षा से संबंधित गतिविधियों के लिए ही करना आवश्यक आवश्यक है यदि कोई विद्यार्थी शिक्षा लोन हासिल करके इसका इस्तेमाल किसी और जगह पर करता है, तो उस विद्यार्थी को बुरे परिणाम भी झेलने पड़ते हैं।
    • शिक्षा ऋण के लिए आवेदन करने से पहले विद्यार्थी को एजुकेशन लोन से संबंधित एक ड्राफ्ट तैयार कर लेना चाहिए ताकि वह यह अवलोकन कर पाय की जो उसने एजुकेशन लोन लिया है, उस पर उसे कितना ब्याज देना होगा अथवा कितनी देर तक वह दे सकता है, इसका सारा हिसाब उसे अपने पास रखना चाहिए।
    • कई विद्यार्थी ऐसा भी करते हैं कि वह लोन के लिए खुद को गरीब दिखाते हैं ताकि उन्हें ब्याज दरों पर कुछ हद तक छूट मिल जाए परंतु ऐसा नहीं करना चाहिए क्योंकि यदि किसी भी प्रकार का धोखा दिया जाए, तो इसके काफी बुरे परिणाम विद्यार्थी को झेलने पड़ते हैं अथवा शिक्षा में भी समस्याएं आ जाती है। शिक्षा हासिल करने में भी समस्याएं आ जाती हैं।
    • आवेदन करने से पहले सारे डॉक्यूमेंट ध्यान से देख लेना चाहिए और फिर ही आवेदन करना चाहिए।
    • जिस भी बैंक पर एजुकेशन लोन के लिए आवेदन किया जा रहा है, बैंक से एजुकेशन लोन के बारे में सारी जानकारी अवश्य प्राप्त कर लेनी चाहिए। सोच विचार करने के बाद ही उनके लिए अप्लाई करना चाहिए।
    • लोन लेते वक्त आवेदक को एजुकेशन लोन की प्रोसेसिंग, प्री पेमेंट, लेट पेमेंट की सारी जानकारी अथवा फीस की सारी जानकारी प्राप्त करने के बाद ही शिक्षा ऋण के लिए एग्रीमेंटमें साइन करना चाहिए।

    कोर्सेज जिनके तहत विद्यार्थी एजुकेशन लोन ले सकते हैं:-

     नैक (NAAC) एक्रिडेशन  सरकार द्वारा एजुकेशन लोन के लिए एक और नियम बनाया गया है, इस नियम के तहत नैक एक्रिडेशन प्राप्त कॉलेज और विश्वविद्यालय, संस्थानों और केंद्र के छात्रों के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

    (NBA) नेशनल बोर्ड ऑफ़ एक्रिडेशन मान्यता प्राप्त संस्थानो के विद्यार्थी ही एजुकेशनल लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

    प्रोफेशनल कोर्सेज  सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त प्रोफेशनल कोर्सेज में दाखिला लेने के लिए विद्यार्थी एजुकेशन लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
    टेक्निकल कोर्सेज  सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त प्टेक्निकल कोर्सेज में दाखिला लेने के लिए विद्यार्थी एजुकेशन लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
    अन्य कोर्सेज  बाकी कोर्स से संबंधित विद्यार्थी यदि एजुकेशन लोन के लिए अप्लाई करना चाहते हैं, तो उन्हें रेगुलेटरी बॉडीज से मंजूरी लेनी होगी।
    नर्सिंग कोर्सेज / मेडिकल कोर्सेज  नर्सिंग काउंसलिंग ऑफ़ इंडिया और मेडिकल काउंसलिंग ऑफ़ इंडिया के तहत मंजूरी प्राप्त संस्थानों के विद्यार्थी ही एजुकेशनल लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

     

    एजुकेशन लोन 2021 आवश्यक दस्तावेज  | Education Loan 2021 : Required Documents

    • आधार कार्ड
    • मूल निवासी पहचान पत्र
    • दसवीं बारहवीं की मार्कशीट
    • ग्रेजुएट विद्यार्थी की ग्रेजुएशन मार्कशीट
    • परिवार की वार्षिक आमदनी का प्रमाण पत्र
    • संस्थान / यूनिवर्सिटी का ऐडमिशन लेटर
    • विदेशी यूनिवर्सिटी का ऑफर लेटर (जो विद्यार्थी विदेश में दाखिले के लिए लोन ले रहे हैं )
    • बैंक खाता

    एजुकेशन लोन कहां से मिलेगा

    एजुकेशन लोन लेने के लिए विद्यार्थी सरकारी / गैर सरकारी बैंक से संपर्क कर सकते हैं। जिस बैंक में विद्यार्थी का खाता है, उस बैंक से संपर्क करके भी विद्यार्थी एजुकेशन लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

    एजुकेशन लोन 2021 ब्याज दर | Education Loan interest rate 2021

    • एजुकेशन लोन की ब्याज दर लोन की अमाउंट पर निर्भर करती है।
    • अधिकतर बैंकों में एजुकेशन लोन की ब्याज दर 35% से 3% तक हो सकती है।

    सिक्यॉरिटी

    • 4 लाख रुपये तक के एजुकेशन लोन (education loan) के लिए सिक्यॉरिटी देना अनिवार्य नहीं है अर्थात जो विद्यार्थी 4 लाख का लोन लेते हैं, उसके लिए उन्हें कोई चीज भी गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं है।
    • 4 लाख रुपये से ज्यादा का लोन लेने पर सिक्योरिटी देना अनिवार्य होता है।
    • लोन की वापसी के बाद गिरवी रखी चीज छुड़वाई जा सकती है।
    • जो विद्यार्थी 75 लाख से अधिक का लोन लेते हैं, उन्हें बैंक में कुछ गिरवी रखने के लिए भी बोलै जा सकता है।

    रीपेमेंट

    • कोर्स खत्म होने के 6 महीने बाद रीपेमेंट का समय शुरू हो जाता है, कई बार बैंक से 6 महीने बाद की मोहलत भी ली जा सकती है।इसके अलावा 1 साल तक का समय भी रीपेमेंट के लिए बैंक से मांगा जा सकता है।
    • ज्यादातर बैंकों में 5 से 7 साल में लोन चुकाने की अवधि दी जाती है।कोर्स की अवधि के दौरान लोन पर ब्याज भी चुकाना पड़ता है। लोन पर ब्याज भी एमआई के रूप में चुकाना पड़ता है।

    एजुकेशन लोन आज के समय में विद्यार्थियों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, जो विद्यार्थी उच्च स्तर प्रोफेशनल कोर्सेज, टेक्निकल कोर्सेज, नर्सिंग कोर्सेज / मेडिकल कोर्सेज पर शिक्षा हासिल करना चाहते हैं । एजुकेशन लोन की सुविधा प्राप्त होने से आर्थिक तंगी से जूझ रहे विद्यार्थिओं को बहुत सहारा हो गया है। विद्यार्थी शिक्षा हासिल करके अपने भविष्य को संवार सकते हैं।

    सरकारी योजना List 2021 प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2021

    1 COMMENT

    1. आपकी दी गई जानकारी से हमे बहुत कुछ सीखने को मिला। धन्यवाद।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here