ई-क्रांति (इलेक्ट्रॉनिक सेवाएं) | e-Kranti – Government Services Electronically 2022

0
1905
e-Kranti - Government Services Electronically
e-Kranti - Government Services Electronically

ई-क्रांति (इलेक्ट्रॉनिक सेवाएं) डिजिटल इंडिया 2022 का पांचवा स्तम्भ | e-Kranti – Government Services Electronically: Digital India 2022

ई-क्रांति डिजिटल इंडिया का पांचवा और बहुत ही महत्वपूर्ण स्तंभ है। ई क्रांति के तहत प्रौद्योगिकी विकास की तरफ विशेष ध्यान दिया जाएगा। प्रौद्योगिकी विकास के माध्यम से डिजिटल पहलों, जैसे— इलेक्ट्रॉनिक भुगतान, ई-स्वास्थ्य, डिजिटल साक्षरता और वित्तीय समावेशन में वृद्धि बढ़ोतरी हेतु की क्रांति को डिजिटल क्रांति जिसको e-kranti भी कहते हैं; को प्रयोग में लाया जाएगा। ई क्रांति के माध्यम से भारत के आर्थिक-सामाजिक-राजनैतिक क्षेत्र में व्यापक बदलाव लाने के प्रयास किए जाएंगे।

भारत एक ऐसा देश है, जहां पर प्रौद्योगिकी विकास की दिशा कभी भी निर्धारित नहीं रह सकती है; कभी प्रौद्योगिकी विकास में बहुत तेजी आ जाती है, तो कभी प्रौद्योगिकी विकास धीमी चाल से आगे बढ़ता है। 2014 से डिजिटल इंडिया, स्किल इंडिया, मेक इन इंडिया, स्टार्ट-अप इंडिया और स्मार्ट सिटीज जैसे अनेक नीतिगत उपायों की शुरुआत करते हुए इलेक्ट्रॉनिक सेवाओं को देश में सरकारी विभागों द्वारा अपनाया गया तथा प्रयोग में लाया गया।

डिजिटल इंडिया 2022: ई-क्रांति (इलेक्ट्रॉनिक सेवाएं) 2022 का उद्देश्य | e-Kranti – Government Services Electronically: Objectives

भारत में डिजिटल क्रांति की शुरुआत 4 साल पहले की गई ताकि जितनी भी सरकारी सेवाएं हैं, उन सारी सेवाओं को इलेक्ट्रॉनिक सेवाओं में परिवर्तित करके लोगों तक पहुंचाया जाए। सरकारी तथा गैर सरकारी मंत्रालयों में प्रौद्योगिकी विकास के लिए इस क्रांति को एक अच्छे बदल के रूप में अपनाया जाए, यही क्रांति का उद्देश्य है।

डिजिटल इंडिया 2022: ई-क्रांति (इलेक्ट्रॉनिक सेवाएं) 2022 के तहत की जाने वाली गतिविधियां | e-Kranti – Government Services Electronically: Activities

  • डिजिटल क्रांति की दिशा में अनेक सार्थक प्रयास जैसे कि सामाजिक-आर्थिकउपलक्ष्य में विकास में बढ़ोतरी और विश्वसनीय नेटवर्क, इष्टतम कनेक्टिविटी तथा क्लाउड जैसे डिजिटल हस्तक्षेपों सहित कुशल प्रौद्योगिकियों के इष्टतम उपयोग करके प्रौद्योगिकी विकास के पुरातन तरीकों में तब्दीली लाकर डिजिटलाइजेशन को फोकस में लाना।
  • ई-क्रांति के तहत देश की अर्थव्यवस्था पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेंगे।
  • ई-भुगतान, ई-स्वास्थ्य, डिजिटल साक्षरता, कृषि, वित्तीय समावेशन, भौगोलिक मानचित्रण, ग्रामीण विकास, सामाजिक लाभ कार्यक्रम, भाषा स्थानीयकरण आदि जैसे क्षेत्र भी क्रांति का ही हिस्सा है, यह सारे रूपांतरित परिवर्तन है; जो पुरातन भुगतान साक्षरता तरीकों को आधुनिक दौर में डिजिटल में परिवर्तित करके एक क्रांति के माध्यम से इस्तेमाल में लाए गए।
  • क्लाउड प्लेटफार्मों और अनुप्रयोगों जैसी प्रौद्योगिकियों को अपनाने से देश की विश्व स्तर पर डिजिटल गति में महत्त्वपूर्ण एवं सकारात्मक प्रभाव भी दिखने लगे हैं।
  • भारत देश में मेक इन इंडिया और डिजिटल इंडिया कार्यक्रमों में क्लाउड और अन्य डिजिटल हस्तक्षेपोंसे ई-क्रांति को और भी ज्यादा बल मिला है।

डिजिटल इंडिया 2022: ई-क्रांति (इलेक्ट्रॉनिक सेवाएं) के लाभ | Digital India 2022: e-Kranti 2022 – Government Services Electronically: Benefits

  • डिजिटल इंडिया के पांचवी स्तंभ ई-क्रांति से छोटे व्यवसायों, स्टार्ट-अप और गैर-लाभकारी संगठनों को प्रोत्साहित करते समय नई सेवाओं और उत्पादों के लिये अवसर पैदा करने में मदद मिलेगी।
  • इसके अतिरिक्त, अकादमिक, व्यापारिक दुनिया, गैर-सरकारी संगठनों और भारतीय जनसामान्य के बीच सहयोग और ज्ञान-साझाकरण भी ई-क्रांति से सक्षम हो पाएंगे, जिससेकिसानों, ग्रामीण उद्यमियों और कारीगरों को बहुत लाभ पहुंचेगा।
  • देश में क्रांति आ जाने से आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग, रोबोटिक्स और ब्लॉकचेन जैसी नई और उभरती हुई तकनीकों को प्रोत्साहन मिलेगा तथा राष्ट्र निर्माण में इन तकनीकों की हिस्सेदारी रहेगी; यह केवल ई-क्रांति से ही संभव है।
  • मोबाइल संचार, स्मार्ट फोन और एप्स को अपनाने के साथ, नई तकनीक को गले लगाने के लिये भारत ने अधिक परिपक्व बाज़ारों में छलांग लगा दी है, जिससे देश में बाजारों तथा कंपनियों को भी फायदा होगा।
  • नकदी रहित (कैशलेस)जैसी सुविधाएं की क्रांति का ही हिस्सा है, कैशलेस सुविधाएं अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में बहुत योगदान दे रहे हैं।
  • देश भर में भारतीय इंजीनियर अगली पीढ़ी के सॉफ्टवेयर विकसित कर रहे हैं, जो कि दुनिया के कुछ सबसे सफल और अभिनव व्यवसायों और विचारों को बल प्रदान करते हैं; इन सब की शुरुआत भी देश में ही ई-क्रांति की वजह से ही हुई है।जिसकी वजह से देश विश्व स्तर पर अपना नाम बना सका है।

भले ही देश में एक क्रांति के तहत बहुत सारे बदलाव आए हैं, परंतु फिर भी देश का एक वर्ग जो गरीबी से संबंधित है या जो लोग अनपढ़ हैं तथा नई तकनीकों से अवगत नहीं है; उन लोगों को अभी भी समस्याएं पेश हो रहे हैं। गरीबी / अनपढ़ता जैसे विकार देश की अर्थव्यवस्था पर प्रतिबंध लगा रहे हैं एवं डिजिटल इंडिया के उद्देश्य को भी पूरा करने में कहीं ना कहीं समस्या पैदा कर रहे हैं; इसलिए पहले लोगों को नई तकनीकों से अवगत करवाना तथा देश में गरीबी को भी खत्म करना आवश्यक है। तभी डिजिटल इंडिया के सारे स्तम्भ पूर्ण तौर पर देश में लागू हो पाएंगे और डिजिटल इंडिया की राह पर चलकर पूरी तरह से डिजिटलाइजेशन को अपना पाएगा।

सरकारी योजना List 2022 प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2022

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here