ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर स्कीम 2021 | Driving Training Centre Scheme 2021

0
1430
Driving Training Centre Scheme 2021
Driving Training Centre Scheme 2021

ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर स्कीम 2021 | Driving Training Centre Scheme 2021

भारत देश में जितने भी लोग अपने निजी या फिर प्राइवेट कंपनियों के वाहनों को ड्राइव कर रहे हैं, उन सब लोगों को ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर स्कीम के तहत ड्राइविंग ही की तकनीक सिखाई जाएगी। ड्राइवरों को अच्छी तरह से ट्रेनिंग प्रदान करने के साथ-साथ रोड सेफ्टी नियम भी समझाएं जाएंगे। इसके अतिरिक्त इस स्कीम के तहत रोड एक्सीडेंट की संख्या को कम करने हेतु ड्राइवरों को हर प्रकार की सेफ्टी गाइडलाइन से अवगत करवाया जाएगा। ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर स्कीम के तहत देश में रोजगार के अवसर बढ़ाने का कार्य भी किया जाएगा।

ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर स्कीम के तहत ड्राइवरों को तैयार करके देश की यातायात सुविधा में सुधार किया जाएगा। ट्रैफिक जाम, रोड एक्सीडेंट आदि की सारी जानकारी प्रदान करके ड्राइवरों को हर पहलू से अवगत करवाया जाएगा। इसके अलावा सरकार उन लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान करेगी, जो ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर स्कीम के तहत अपने ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर खोलना चाहते हैं, परंतु उनके पास पर्याप्त साधन मौजूद नहीं है।

ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर स्कीम भारत की केंद्र सरकार द्वारा 2018 में कैबिनेट में मंजूरी के लिए रखी गई थी और 7 मार्च, 2018 को इस योजना को ट्रांसपोर्ट भवन दिल्ली में लागू किया गया है; जहां पर ड्राइवरों को ड्राइविंग ट्रेनिंग प्रदान की जाती है।

ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर स्कीम 2021 का उद्देश्य | Driving Training Centre Scheme 2021: Objectives

इस योजना का मुख्य उद्देश्य ड्राइविंग टेस्ट चालू करके क्वालिटी कंप्यूटर ड्राइविंग ट्रेनिंग उपलब्ध करवाकर देश की यातायात सुविधा में सुधार करना हैयातायात सुविधा में सुधार करना और ड्राइवरों को रोजगार के अवसर प्रदान करना है।

इसके अतिरिक्त ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर स्कीम के तहत ट्रेनिंग सेंटर खोलने के इच्छुक व्यक्तियों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है।

ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर स्कीम 2021 का इंफ्रास्ट्रक्चर | Driving Training Centre Scheme 2021: Infrastructure

ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर के लिए जो इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया गया है, उसी इंफ्रास्ट्रक्चर के तहत ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर में ड्राइवरों को ट्रेनिंग प्रोवाइड उपलब्ध करवाई जाएगी। निर्धारित किए गए इंफ्रास्ट्रक्चर का विवरण निम्नलिखित प्रकार है:-

इंफ्रास्ट्रक्चर परिभाषा
जगह जहां पर भी ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर खोलना है / स्थापित करना है; उसके लिए कम से कम 2 एकड़ जमीन होनी अनिवार्य है अर्थात जो इस योजना के तहत ट्रेनिंग सेंटर खोलने के इच्छुक है, उनके नाम पर या लीज पर 2 एकड़ जमीन होगी, तभी ट्रेनिंग सेंटर खोल पाएंगे।
क्लासरूम ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर में कम से कम 2 क्लासरूम होने आवश्यक है; जहां पर प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले व्यक्तियों को ड्राइविंग संबंधित सारा प्रशिक्षण उपलब्ध करवाया जाएगा। इसके अलावा इन कमरों में प्रोजेक्टर होना भी आवश्यक है ताकि टेक्नोलॉजी संबंधी जानकारी व्यक्तियों तक पहुंचाई जा सके।
वाहन सिम्युलेटर ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर में ट्रेनिंग के लिए डुअल कंट्रोल के साथ है और लाइट वेट और हेवी मोटर व्हीकल होना आवश्यक है।

इसके अलावा दोनों तरह के व्हीकल में ड्राइवरों को सिमुलेटर उपलब्ध करवाना भी अति आवश्यक है, तभी ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर को सरकार द्वारा मान्यता दी जाएगी।

 ब्रॉडबैंड तथा बायोमेट्रिक ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर में इंटरनेट की सुविधा और बायोमैट्रिक सिस्टम होना भी अनिवार्य है। ड्राइवरों की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए बायोमैट्रिक सिस्टम ट्रेनिंग सेंटर में होना अनिवार्य है।
 ड्राइविंग ट्रेक रिवर्स ड्राइविंग, स्लोप पर ड्राइविंग जैसी स्केल्स सिखाने के लिए प्रशिक्षण केंद्र में ड्राइविंग ट्रेक होना आवश्यक है।

इसके अलावा ड्राइवर को पार्किंग का प्रशिक्षण देने के लिए भी सेंटर में पर्याप्त जगह होनी चाहिए।

बाथरूम और अन्य सुविधाएं ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर में पर्याप्त स्टाफ का होना और महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग-अलग बाथरूम की व्यवस्था होनी अनिवार्य है।

 

यदि ट्रेनिंग सेंटर में इंफ्रास्ट्रक्चर में ऊपर दी गई सारी सुविधाएं नहीं होगी, तो उन ड्राइविंग ट्रेनिंग टेस्ट सैंटरो को सरकार द्वारा मान्यता नहीं दी जाएगी।

ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर स्कीम 2021 की ट्रेनिंग लेने के फायदे | Driving Training Centre Scheme 2021: Benefits

  • ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर में ट्रेनिंग के लिए ड्राइवरों को ट्रेनिंग के लिए सिम्युलेटर का उपयोग किया जाएगा। ताकि ड्राइवर हर कंडीशन में किसी भी प्रकार के रोड पर सेफ ड्राइविंग करने के सक्षम हो पाए।
  • ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटरमें नेशनल स्किल क्वालीफिकेशन फ्रेमवर्क के अंतर्गत उच्च क्वालिटी का प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
  • इन ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर में केंद्र सरकार द्वारा दो तरह के व्हीकल का उपयोग करना सिखाया जाएगा – लाइट मोटर व्हीकल और दूसरे हेवी मोटर व्हीकल। इन दोनों प्रकार के व्हीकल को चलाने के लिए ड्राइवरों को ट्रेन किया जाएगा।
  • ट्रेनिंग सेंटर में टेक्नोलॉजी बेस्ड सिस्टम के उपयोग से ड्राइवर को ड्राइविंग लाइसेंस प्रदान करने की सुविधा से अवगत करवाया जाएगा। इस सिस्टम के तहत ऑब्जेक्टिव साइंटिफिक प्रोसेस द्वारा ड्राइवरों का टेस्ट लिया जाएगा।यह टेस्ट ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर में ही लिए जा सकते हैं और इस तरह से लाइसेंस प्रदान करने के लिए आरटीओ द्वारा किसी भी पास के ट्रेनिंग सेंटर का उपयोग किया जा सकता है।
  • इसके अतिरिक्त ड्राइवरों को रोजगार के अवसर भी प्रदान किए जाएंगे। ड्राइवरों को ट्रेनिंग प्रदान करके उन्हें अलग-अलग एजेंसियों में नौकरी के अवसर प्रदान किए जाएंगे।

ट्रेनिंग सेंटर के लिए केंद्र सरकार द्वारा सहायता

  • जो लोग ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर खोलना चाहते हैं, उन लोगों को केंद्र सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। इसके अलावा ट्रेनिंग सेंटर खोलने के इच्छुक लोगों को केंद्र सरकार द्वारा ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर को मान्यता भी प्रदान की जाएगी और इन्हीं मान्यता प्राप्त ट्रेनिंग सेंटर से जो ड्राइवर ड्राइविंग सीखते हैं, उन्हें विशेष रुप से लाभ भी प्रदान किया जाएगा।
  • ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर स्कीम केंद्र सरकार द्वारा वित्त पोषित योजना है। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा सेंटर स्थापित करने के लिए 50% लगभग एक करोड रुपए तक की सहायता प्रदान की जाएगी। यह सहायता इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने और टेक्निकल फीचर्स मेंटेन करने के लिए ट्रेनिंग सेंटर स्थापित करने के इच्छुक लोगों को दी जाएगी।
  • इसके अतिरिक्त अन्यखर्चे ट्रेनिंग सेंटर को ही उठाने होंगे, चाहे तो अन्य खर्चे उठाने के लिए संस्थानों से मदद भी ले सकते हैं और इस स्थिति में आवेदन के लिए सरकारी संस्था से मदद भी ले सकते हैं।
  • ट्रेनिंग सेंटर खोलने के लिए जो आवेदन करना चाहते हैं, उन्हें इंफ्रास्ट्रक्चर से संबंधित सारी शर्तों को पूरा करना होगा; तभी वह ट्रेनिंग सेंटर स्थापित करने के लिए आवेदन करने के योग्य होंगे।

ट्रेनिंग सेंटर स्थापित करने के आवेदन के लिए पात्रता

  • सभी प्रकार के एनजीओ ट्रस्ट, कोऑपरेटिव सोसाइटी, व्हीकल मैन्युफैक्चरर, अंडरटेकिंग और अन्य एजेंसी आदि इस योजना के तहत आवेदन करके ट्रेनिंग सेंटर स्थापित कर सकते हैं।
  • यदि सेंटर केंद्र या राज्य सरकार के अंतर्गत पहले से ही रजिस्टर्ड है, तो वह भी इस योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं।
  • रजिस्ट्रेशन नीति आयोग के दर्पण पोर्टल पर रजिस्टर्ड एनजीओ ही इस योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं, जो एनजीओ इस पोर्टल पर रजिस्टर्ड नहीं है; उन्हें आवेदन करने की अनुमति नहीं है।
  • इस योजना में रजिस्टर करने के लिए आवेदक को अपनी वित्तीय योग्यता सरकार के सामने पेश करनी होगी।तभी वह ट्रेनिंग सेंटर खोल पाएंगे। यदि किसी व्यक्ति के पास पर्याप्त धन नहीं है तो उन्हें रजिस्ट्रेशन करवाने की अनुमति नहीं होगी तो मैं इस योजना के तहत रजिस्ट्रेशन नहीं कर सकते।
  • यदि इस योजना के तहत आवेदन करने के इच्छुक व्यक्ति इंफ्रास्ट्रक्चर के सारे नियमों का पालन नहीं करते, तो भी वह इस योजना के तहत आवेदन नहीं कर सकते अर्थात इन नियमों को पूरा करने वाले व्यक्ति ही आवेदन के पात्र हैं।
  • कोई प्राइवेट संस्था भी इस योजना के तहत ट्रेनिंग सेंटर स्थापित करने के लिए आवेदन कर सकती है।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • मूलनिवासी पहचान पत्र
  • यदि कोई ट्रेनिंग सेंटर योजना के अंतर्गत ट्रेनिंग प्रदान करना चाहता है,तो मान्यता प्राप्त दस्तावेज की कॉपी जमा करवानी होगी।
  • जिस जगह पर ट्रेनिंग सेंटर खोलना है, उस जगह से संबंधित सारे दस्तावेज
  • वित्तीय योग्यता से संबंधित दस्तावेज
  • पैन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी

ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर स्कीम 2021 आवेदन प्रक्रिया | Driving Training Centre Scheme 2021: Registration Process

  • इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए आवेदक को भारत के सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट https://morth.nic.inपर जाना होगा।
  • इसके पश्चात https://morth.nic.in/showfile.asp?lid=3159पर जाकर आवेदन फॉर्म को डाउनलोड करना होगा।
  • दी गई सारी इंस्ट्रक्शन को अच्छे से पढ़ कर आवेदन फॉर्म को डाउनलोड करने के पश्चात इस एप्लीकेशन फॉर्म में सारी जानकारी जैसे नाम, लीगल स्टेटस, कांटेक्ट नंबर, बैंक अकाउंट नंबर भरना होगा।
  • सारी जानकारी ध्यानपूर्वक भरने के पश्चात इस फॉर्म का प्रिंट आउट निकाल कर मंत्रालय में जमा करवाना होगा।

 सूचना

इस योजना के तहत आवेदन करने की तिथि 31 मार्च, 2020 थी, जो अभी खत्म हो चुकी है। यह अंतिम तिथि थी; जिस दिन आवेदन किया जा सकता था। फिलहाल अभी इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने की कोई भी तिथि निश्चित नहीं की गई है परंतु समय-समय पर केंद्र सरकार द्वारा आवेदन करने के लिए नोटिफिकेशन दिया जाता है। नोटिफिकेशन के हिसाब से ट्रेनिंग सेंटर स्थापित करने के इच्छुक लाभार्थी दोबारा आवेदन कर पाएंगे। निर्धारित की गई तिथि के भीतर ही आवेदक आवेदन कर पाएंगे।

इस योजना से ना केवल ड्राइवर ही ड्राइविंग टेक्निक सीख पाएंगे, बल्कि जो लोग ट्रेनिंग सेंटर स्थापित करना चाहते हैं; उन लोगों को भी सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी और ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटरों को मान्यता प्रदान की जाएगी ताकि वह अपना रोजगार शुरू कर पाए और ट्रेनिंग सेंटर स्थापित करके ड्राइवरों को ड्राइविंग तकनीक के साथ-साथ रोड सेफ्टी रूल्स से भी अवगत करवा पाए।

सरकारी योजना List 2021 प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2021

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here