आई टी के जरिए रोजगार (डिजिटल इंडिया 2022 का आठवां स्तंभ) | Digital India 2022 8th Pillar IT for Jobs 2022

0
1062
Digital India 8th Pillar IT for Jobs
Digital India 8th Pillar: IT for Jobs

आई टी के जरिए रोजगार (डिजिटल इंडिया का आठवां स्तंभ) | Digital India 8th Pillar: IT for Jobs

डिजिटल इंडिया के आठवीं स्तंभ के तहत देशभर में आईटी क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए सरकार द्वारा आईटी केंद्र स्थापित किए जाएंगे ताकि नौजवानों को आईटीआई ट्रेनिंग दी जा सके और वह इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में कुशल प्रशिक्षण प्राप्त करके नौकरी के अच्छे अवसर प्राप्त कर पाए। डिजिटल इंडिया का यह स्तंभ आईटी / आईटीईएस क्षेत्र में रोजगार के अवसरों का लाभ उठाने के लिए आवश्यक कौशल में युवाओं को प्रशिक्षण प्रदान करने पर आधारित है; इस स्तंभ में सारा ध्यान डिजिटल क्षेत्र में प्रशिक्षण देने पर ही होगा।

कंप्यूटरीकरण के दौर में जब हर एक काम कंप्यूटर की मदद से होने लगा है, तो ऐसे में नौजवानों को कंप्यूटर से संबंधित सारी जानकारी एवं आईटी क्षेत्र में महारत देने के लिए इस स्तंभ को निर्धारित किया गया है। किसी भी देश की प्रगति का अनुमान अभी इसी बात से लगाया जाता है कि देश में रहने वाले नौजवान आईटी क्षेत्र में कितने योग्य हैं।

डिजिटल इंडिया 2022: आई टी के जरिए रोजगार का उद्देश्य | Digital India 2022: IT for Jobs

डिजिटल इंडिया के आठवीं स्तंभ आईटी के जरिए रोजगार का उद्देश्य भारत देश के अंदर इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के तहत नौजवानों को प्रशिक्षित करके उन्हें रोजगार के अवसर प्रदान करना है। इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी एक ऐसा क्षेत्र है, जिसमें रोजगार की संभावनाएं बाकी सारे रोजगार ओं से अधिक है। रोजगार की संभावनाएं ज्यादा होने का कारण यह भी है कि इस क्षेत्र में सबसे ज्यादा तब्दीलियां आते हैं और उन तब्दीलीओं के अनुसार ही यदि नौजवानों को प्रशिक्षित किया जाएगा; तो नौजवान ना केवल राष्ट्रीय स्तर पर बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी आईटी क्षेत्र में अपना नाम कमा सकेंगे।

इस स्तंभ के अंतर्गत गतिविधियों को कुछ घटकों में निर्धारित किया गया है हिना का वर्णन निम्नलिखित प्रकार है:-

डिजिटल इंडिया 2022: आईटी सेक्टर | Digital India 2022: IT Sector

छोटे शहरों और गांवों में लोगों को आईटी की ट्रेनिंगप्रदान की जाएगी। इस घटक का मुख्य लक्ष्य 5 वर्षों में आईटी क्षेत्र की नौकरियों के लिए छोटे शहरों और गांवों के एक करोड़ छात्रों को प्रशिक्षित करके उन्हें आईटी सेक्टर में नौकरियां प्रदान करना है। इस योजना के लिए DeitY नोडल विभाग को निर्धारित किया गया है, जिसके द्वारा सारा कार्यभार संभाला जा रहा है।

डिजिटल इंडिया 2022: पूर्वोत्तर राज्यों में आईटी/आईटीईएस | Digital India 2022: IT Sector in East State

यह घटक इन राज्यों में आईसीटी सक्षम विकास को सुविधाजनक बनाने के लिए प्रत्येक उत्तर-पूर्वी राज्य में बीपीओ स्थापित करके उन बीपीओ दफ्तरों में नौजवानों को रोजगार प्रदान करना है, इसी बात पर पूरा ध्यान केंद्रित किया गया है। इस योजना के लिए डीआईवाईवाई नोडल विभाग को निर्धारित किया गया है।

प्रशिक्षण सेवा वितरण एजेंट

आईटी सेवाओं को पहुंचाने वाले व्यवहार्य व्यवसायों को चलाने के लिए कौशल विकास के हिस्से के रूप में तीन लाख सेवा वितरण एजेंटों को प्रशिक्षित करने पर भी विशेष ध्यान दिया गया है। इस योजना के लिए DeitY नोडल विभाग कार्यभार सौंपा गया है।

दूरसंचार और दूरसंचार से संबंधित सेवाओं पर ग्रामीण कार्यबल को प्रशिक्षण देना

यह घटक अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर्स (TSPs) के पाँच लाख ग्रामीण कर्मचारियों को प्रशिक्षित करने पर ध्यान केंद्रित किया जायेगा, कर्मचारियों को प्रशिक्षित करने के पश्चात नौकरी के अवसरों में भी बढ़ोतरी की जाएगी। इस योजना का नोडल विभाग दूरसंचार विभाग (DoT) है।

उत्तर पूर्व BPO संवर्धन योजना (NEBPS)

भारतीय बीपीओ उद्योग में पिछले वर्षों में महत्वपूर्ण वृद्धि देखी गई है और भारत धीरे-धीरे विश्व स्तर पर पसंदीदा बीपीओ स्थलों में से एक के रूप में उभरा रहा है। परिचालन लागत प्रभावशीलता, कुशल श्रमशक्ति की उपलब्धता और रोजगार के अवसरों की बढ़ती मांग सहित कई कारकों ने देश में बीपीओ उद्योग के विकास में उत्तर पूर्व BPO संवर्धन योजना ने तेजी से योगदान दिया है।

डिजिटल इंडिया 2022: आईटी में रोज़गार की विशेषताएं | Digital India 2022: Jobs in IT Sector

  • वर्तमान पंचवर्षीय योजना के अंत तक 4000 की कुल बैठने की क्षमता बनाने की परिकल्पना की गई है, जिससे लगभग 12000 व्यक्तियों को डिजिटल इंडिया के तहत आईटी में रोज़गार मिलने की उम्मीद है।
  • आईटी / आईटीईएस उद्योग के माध्यम से विशेष रूप से बीपीओ / कॉल सेंटरों को बढ़ावा देकर एनईआर में शिक्षित और बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार सृजन किये जायेंगे।
  • आईटी उद्योग के आधार का विस्तार करने और संतुलित क्षेत्रीय विकास की सुविधा के लिए एनईआर में आईटी सेक्टर में निवेश को बढ़ावा भी सरकार की तरफ से दिया जायेगा।

डिजिटल इंडिया के तहत पूरे देश में आईटी सेक्टर में नौजवानों को रुचि दिखाने के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा, जिससे नौजवान आधुनकि शिक्षा अथवा नई आईटी तकनीकों के बारे में जान भी पाएंगे और अपनी इच्छाअनुसार प्रशिक्षण भी प्राप्त कर पायेगें। इससे न केवल नोजवानो को फायदा होगा, बल्कि देश में भी नए रोज़गारों की संभावनाएं भी पैदा होंगी, इससे निष्चय ही बेरोज़गारी पर साकरत्मक प्रभाव पड़ेगा।

सरकारी योजना List 2022 प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2022

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here