Delhi Mukhyamantri Kirayedaar Bijli Meter Yojana 2022 दिल्ली मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना 2022

0
1792
Delhi Mukhyamantri Kirayedaar Bijli Meter Yojana 2021
Delhi Mukhyamantri Kirayedaar Bijli Meter Yojana 2021

क्या आपको पता है दिल्ली मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना क्या क्या है अगर आप किरायेदार है तो आप इसका लाभ कैसे उठा सकते है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 2019 में दिल्ली के लाखों किरायेदारों को बड़ी राहत देने के लिए मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना का ऐलान किया था। दिल्ली में बड़ी संख्या में लोगों के घर, फ्लैट और कॉलोनियों के घर किराय पर लगे रहते है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस योजना को बड़ा फायदा होने की उम्मीद से ही खोला है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना के तहत दिल्ली के किरायेदारों के लिए प्रीपेड मीटर स्थापित किए जाएंगे। जिनका इस्तेमाल सिर्फ घरेलू हिसाब से ही होगा। मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना के तहत किरायेदारों को 6000 रुपये देने होंगे। जिसमे से किरायेदारों को 3000 रुपये बतौर सुरक्षा शुल्क और 3000 रुपये लाइन खींचने के लिए देने होंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि आज दिल्ली के लोगों को 24 घंटे बिजली मिल रही है और देश में सबसे सस्ती बिजली दिल्ली में ही मिल रही है। साथ ही उन्होंने कहा अभी दिल्ली में रह रहे किरायेदारों को सस्ती बिजली योजना का लाभ नही मिल रहा है। कई जगह कई मकान मालिक तो अपने किरायेदारों को महंगी बिजली दे रहे थे। अभी तक तो यह कानून था कि प्रीपेड मीटर लगाने से पहले किरायेदार को मीटर लेने के लिए मकान मालिक से अनुमति लेनी होती थी। परन्तु जब से मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना लागू हुई है जब से उनको अपने मकान मालिक से अनुमति लेने की जरूरत है अब किरायेदार कभी भी अपने लिए प्रीपेड मीटर लगा सकते है।

मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना 2022 से जुडी जानकारी और लाभ (Delhi Mukhyamantri Kirayedaar Bijli Meter Yojana 2022: Guidelines and Benefits)

  1. किरायेदारों को मदद:- मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना को शुरू कर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के लाखों किरायेदारों को बड़ी राहत दी है। इस योजना के तहत न सिर्फ मकान मालिक को बल्कि किरायेदारों को भी सस्ती बिजली की सुविधा मिलेगी।
  2. बिजली की खपत: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत आपको अपनी बिजली खपत के अनुसार ही पैसे देने होंगे। अगर किसी व्यक्ति ने 200 यूनिट तक की या उससे कम की बिजली की खपत की है तो उससे उसके लिए कोई पैसे नहीं देने पड़ेगे। परन्तु अगर किसी व्यक्ति ने 400 यूनिट या उससे ज्यादा बिजली की खपत की है तो उससे उसके लिए पैसे देने पड़ेगे।
  3. घरेलू उपयोग के लिए: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत लाभार्थियों को जो मीटर की सुविधा प्रदान की जाएगी, उसका उपयोग वह केवल घरेलू उपयोग के लिए ही कर सकते है। अन्य चीजों में इसका उपयोग करना वर्जित होगा।
  4. प्रीपेड भुगतान: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत लाभार्थियों को मीटर लगवाने के लिए कुछ सुरक्षा शुल्क 3000 रूपये और 3000 रुपये लाइन खींचने के लिए देने होंगे। ये शुल्क उन्हें पहले ही बिजली कंपनी में जमा करना होगा। यानि उन्हें पहले रिचार्ज करना होगा उसके बाद ही उन्हें बिजली की सुविधा प्राप्त हो सकेगी।
  5. एनओसी की जरुरत नहीं: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत लाभार्थियों को मीटर लगवाने के लिए अपने मकान मालिक या किसी से भी एनओसी लेने की आवश्यकता नहीं है।

मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना 2022 के लिए कौन बन सकता है उम्मीदवार  (Delhi Mukhyamantri Kirayedaar Bijli Meter Yojana 2021: Eligibility)

  1. दिल्ली निवासी: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना का लाभ सिर्फ दिल्ली के निवासी ही उठा सकते है। और साथ ही वो लोग भी उठा सकते है जो दिल्ली के निवासी के घर पर किराये पर रहते है।
  2. किरायेदार: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना का लाभ दिल्ली के किरायदार भी उठा सकते है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के अनुसार किरायेदारों को भी इस योजना में शामिल किया जायेगा है। यानि अगर एक व्यक्ति कानूनी रूप से किसी मकान मालिक के घर में किराये से रह रहा है तो उसे ही इस योजना का लाभ लेने की अनुमति है।

मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना 2022 के लिए कौन बन सकता है उम्मीदवार (Delhi Mukhyamantri Kirayedaar Bijli Meter Yojana 2022: Eligibility)

मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना में मीटर लगवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज (Delhi Mukhyamantri Kirayedaar Bijli Meter Yojana 2022: Required Documents)

  1. आवासीय प्रमाण पत्र: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत लाभार्थियों को किरायेदारों को इस योजना से जुड़ने के लिए आवश्यक दस्तावेजों के रूप में अपना दिल्ली सीमा के अंदर आने वाले घर में रहने का प्रमाण पत्र देना होगा। यह किरायेदार का आवासीय प्रमाण पत्र होगा।
  2. किरायेदार होने का प्रमाण: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत लाभार्थियों को अपने किरायेदार होने का प्रमाण देने के लिए एक किरायेदार – मकान मालिक एग्रीमेंट की कॉपी जमा करनी होगी। इस एग्रीमेंट में सभी तरह की जानकारी दी हुई होगी।
  3. किरायेदार का पहचान दस्तावेज: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत लाभार्थियों को इस योजना के लिए अप्लाई करते समय आधार कार्ड की कॉपी की आवश्यकता होगी। क्योंकि इस दस्तावेज के साथ स्कीम एनरोलमेंट फॉर्म में दी गई जानकारी की जाँच की जा सकती है।

मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत मीटर कैसे लगवाएं (Delhi Mukhyamantri Kirayedaar Bijli Meter Yojana 2022: Meter Installation Process)

मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत मीटर लगाने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जानकारी देते हुए कहा कि लाभार्थियों को मीटर लगाने के लिए तीन अलग-अलग नंबर पर कॉल करके मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत मीटर लगा सकता है। इसके लिए लाभार्थियों को 6000 रुपये देने होंगे। जिसमे से किरायेदारों को 3000 रुपये बतौर सुरक्षा शुल्क और 3000 रुपये लाइन खींचने के लिए देने होंगे। शुल्क जमा होने के बाद फोन करते ही शख्स खुद आकर मीटर लगाकर जाएगा। इन नंबरों पर फोन कर किरायेदार घर बैठे मीटर लगवा सकते है

  1. बीएसईएस यमुना का नंबर: 19122
  2. बीएसईएस राजधानी का नंबर: 19123
  3. टाटा का नंबर: 19124

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here