बिहार मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना 2022 Bihar Mukhyamantri Atyant Pichhda Varg Civil Seva Protsahan Yojana 2022

1
1756
Bihar Mukhyamantri Atyant Pichhda Varg Civil Seva Protsahan Yojana 2022
Bihar Mukhyamantri Atyant Pichhda Varg Civil Seva Protsahan Yojana 2022

क्या आपको पता है बिहार मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना क्या है और आप इसके लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे कर सकते है। बिहार मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना केन्द्रीय सरकार द्वारा शुरू की गयी है। जो कि अनुसूचित जाति और जनजाति के लोगों की वर्तमान स्थिति का विकास करने के लिए होती हैं। इसी के चलते बिहार राज्य द्वारा भी एक योजना की शुरुआत की गई है, जोकि इन लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए हैं. इस मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना के तहत उन सभी उम्मीदवारों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। जो कि राज्य एवं केंद्र सरकार के प्राइमरी लेवल की परीक्षा में उत्तीर्ण आये हो और सभी अत्यंत पिछड़े वर्ग से सम्बन्ध रखते हो।

बिहार मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना 2022 के उद्देश्य (Bihar Mukhyamantri Atyant Pichhda Varg Civil Seva Protsahan Yojana 2022: Objectives)

इस मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना का मुख्य उद्देश्य पिछड़े वर्ग से संबंध रखने वाले छात्रों को उनकी उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करना है, ताकि वे गरीबी रेखा से बाहर निकर सकें और अपने करियर विकल्पों पर ध्यान दे सकें। पूरे राज्य में कुल 33 अल्पसंख्यक कल्याण छात्रावास हॉस्टल हैं, जिसमें कुल 3,350 विद्यार्थी रहते हैं। वे इस मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना का लाभ उठा सकते हैं। सरकार द्वारा 11 और हॉस्टल के निर्माण करने का प्रावधान है ताकि यहाँ रहने वालों की संख्या बढ़कर 5000 हो जाये और वे सभी इस मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना लाभ उठा पायें।

बिहार मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना 2022 की विशेषताएँ (Bihar Mukhyamantri Atyant Pichhda Varg Civil Seva Protsahan Yojana 2022: Features)

इस मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना का मुख्य लाभ यह है कि वे उम्मीदवार जो सरकारी परीक्षाओं को पास करने के योग्य हैं लेकिन अत्यंत ही गरीब और पिछड़े वर्ग से सम्बन्ध रखते हैं, उनकी वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा किया जायेगा। इतना ही नहीं इसकी कुछ और भी विशेषताएँ हैं।

पिछड़े वर्ग का विकास और प्रोत्साहन :- इस मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना के अनुसार, बिहार राज्य सरकार उन उम्मीदवारों को प्रोत्साहित करेगी, जो सरकारी एडमिनिस्ट्रेटिव सेक्टर की नौकरियों में शामिल होना चाहते हैं।

यूपीएससी और बीपीएससी उम्मीदवारों के लिए :- इस मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना में उन उम्मीदवारों को शामिल किया गया है, जिन्होंने यूनियन पब्लिक सेवा आयोग एवं बिहार पब्लिक सेवा आयोग दोनों की प्रारंभिक लेवल की परीक्षाओं को सफलता पूर्वक पास किया हो।

उम्मीदवारों को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि :- इस मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना में वे सभी उम्मीदवार जिन्होंने यूपीएससी की प्राइमरी लेवल की परीक्षा उत्तीर्ण की है उन्हें 1 लाख रूपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। वहीँ यदि किसी उम्मीदवार ने बीपीएससी की प्राइमरी लेवल की परीक्षा उत्तीर्ण की है तो उन्हें 50,000 रूपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

प्रोत्साहन राशि का भुगतान :– इस मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना के तहत दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि सिंगल क़िस्त में ही दी जाएगी।

बैंक अकाउंट में ट्रान्सफर :– इस मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना के तहत प्रोत्साहन राशि को लेने के लिए उम्मीदवार को किसी भी सरकारी दफ्तर के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। यह राशि सीधे उम्मीदवार के बैंक अकाउंट में जमा कर दी जाएगी।

अन्य निर्णय :– कैबनेट द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि छात्रावास में रहने वाले सभी ओबीसी और ईबीसी छात्र – छात्राओं को पढ़ाई के लिए 1000 रूपये प्रति माह प्रदान किये जायेंगे। इसके अलावा राज्य सरकार एसटी / एससी कल्याण विभाग, ओबीसी / ईबीसी कल्याण विभाग और अल्पसंख्यक मामलों के कल्याण विभाग द्वारा शुरू किये गए हॉस्टल में रहने वाले सभी छात्र – छात्राओं को बीपीएल दरों पर 15 किलो सब्सिडाइज्ड गेंहू और चांवल भी प्रदान करेगी।

बिहार मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना 2022 के लिए पत्रता मापदंड (Bihar Mukhyamantri Atyant Pichhda Varg Civil Seva Protsahan Yojana 2022: Eligibility)

  1. इस मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना के लिए उन सभी उम्मीदवारों को पैसे दिए जायेंगे जो बिहार के रहने वाले हैं। यदि उम्मीदवारों के पास बिहार राज्य में रहने का कोई प्रमाण नहीं है तो वे इसके लिए एप्लीकेबल नहीं हैं।
  2. यह मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना विशेष रूप से एसटी, एससी उम्मीदवारों के भविष्य में सुधार के लिए लागू की गई है। इस योजना में जनरल केटेगरी के उम्मीदवारों को हिस्सा लेने की अनुमति नहीं दी गई है।
  3. छात्रों के पास उनके खुद के नाम का एक वैलिड बैंक अकाउंट होना आवश्यक है, क्योकि योजना में दी जाने वाली राशि उनके बैंक अकाउंट में ही जमा की जाएगी।

बिहार मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना 2022 के लिए जरुरी दस्तावेज (Bihar Mukhyamantri Atyant Pichhda Varg Civil Seva Protsahan Yojana 2022: Required Documents)

  1. आधार कार्ड।
  2. बिहार का निवासी होने का प्रमाण पत्र।
  3. आवेदक को यूपीएससी और बीपीएससी की प्राइमरी परीक्षा में उपयोग होने वाले एडमिट कार्ड।
  4. यूपीएससी या बीपीएससी परीक्षा के पहले चरण के प्राइमरी लेवल की परीक्षा पास कर लेने के बाद उनकी मार्कशीट की फोटोकॉपी।
  5. बैंक अकाउंट।
  6. आय का प्रमाण पत्र।

बिहार मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना 2022 के लिए ऑनलाइन आवेदन। (Bihar Mukhyamantri Atyant Pichhda Varg Civil Seva Protsahan Yojana 2022: Online Registration)

  1. यही अगर आप मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना के लिए आवेदन करना चाहे है तो सबसे पहले आपको इसकी ऑफिसियल वेबसाइट http://bcebcwelfare.bih.nic.in/ पर जाना होगा।
  2. ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपको इसके होम पेज पर आवेदन फॉर्म दिखेगा जिसमे आपको अपनी सारी महत्वपूर्ण जानकारी भरनी होगी।
  3. अपनी सारी महत्वपूर्ण जानकारी भरने के बाद आपको मागे गए सभी जरूरी दस्तावेज की फोटोकॉपी लगानी होगी।
  4. ये सारी चीजें करने के बाद आपको अपने आवेदन फॉर्म को वेबसाइट पर सबमिट करना होगा।
बिहार सरकारी योजना 2022 सरकारी योजना List 2022 प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2022

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here